Ajmer sharif blast convict went to meet CM yogi

योगी से मदद मांगने पहुंचा अजमेर दरगाह ब्लास्ट का आरोपी, योगी ने किया मिलने से मना

Published Date-25-Mar-2017 10:29:01 AM,Updated Date-25-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

साल 2007 में अजमेर दरगाह में हुए ब्लास्ट के आरोपी सुनील जोशी को उम्रकैद की सजा मिलने के बाद अब वो यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मदद मांगने पहुंचा| लेकिन योगी ने कोई दिलचस्पी न दिखाते हुए उसे वहां से टरका दिया| आपको बता दे सुनील 2006 में गोरखपुर में योगी से मिला था। इस मुलाकात में उसने योगी से कथित तौर पर सिम कार्ड्स और हथियारों का इंतजाम करने के लिए कहा था। इन बातों का जिक्र स्वामी असीमानंद के उस 'इकबालिया' बयान में है, जिसे सीआरपीसी के सेक्शन 164 के तहत दर्ज किया गया था। हालांकि, इस बयान को बाद में वापस ले लिया गया।

 


गौरतलब हो कि जयपुर की विशेष अदालत में अजमेर ब्लास्ट में आरोपी असीमानंद और भारत मोहन रतेश्वर उर्फ भारत भाई को बरी करार दिया था। दोनों ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराया था। खबरों के मुताबिक ने इन बयानों के आधार पर घटनाओं के तार जोड़ने की कोशिश की। इससे पता चला कि सुनील जोशी और भारत भाई ने अप्रैल 2006 में असीमानंद के आदेश पर गोरखपुर के तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। असीमानंद ने सुनील और भारत को आगरा जाकर स्थानीय आरएसएस नेता राजेश्वर सिंह से मुलाकात करके योगी से मिलने का रास्ता निकालने के लिए कहा था।

 


सुनील और भारत पहले आगरा गए, जहां उनकी मुलाकात राजेश्वर से हुई। राजेश्वर इन दोनों को योगी से मिलवाने के लिए गोरखपुर ले गया। असीमानंद के मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराए गए बयान और भारत भाई के सीआरपीसी के सेक्शन 164 के तहत दर्ज बयान में इन बातों का जिक्र है। इसके मुताबिक, उस दिन दोनों को योगी से अकेले में मुलाकात का वक्त नहीं मिला। भारत भाई और असीमानंद के मुताबिक, योगी ने बातचीत में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई और किसी और दिन आने कहा। योगी ने कहा, 'मैं व्यस्त हूं। वक्त लेकर आप मुझसे कभी दोबारा मिल सकते हैं।'

 


इसके बाद, जोशी और भारत ने गोरखपुर छोड़ दिया और योगी से दोबारा मिलने की कोशिश नहीं की। वहीं, असीमानंद के 'इकबालिया' बयान के मुताबिक, उन्हें सुनील जोशी ने जून 2006 में बताया था कि उसे योगी या राजेश्वर से कोई मदद नहीं मिली। दिलचस्प बात यह है कि असीमानंद अपने दिए बयान से पलट गए और दावा किया कि उन्होंने यह कुछ दबाव में कहा था।

 


Ajmer, Ajmer sharif blast, Yogi Adityanath, Convict, Snubbed, Uttar pradrash, Jaipur special court

Recommendation