At dargah chadar is presented on the behalf of Atal Bihari Vajpayee and Kalyan Singh

अटल बिहारी वाजपेयी और कल्याण सिंह की ओर से पेश की गई चादर

Published Date-29-Mar-2017 06:07:07 PM,Updated Date-29-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

अजमेर| अजमेर में सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती का सालाना उर्स की शुरुआत हो चुकी है। 805 वे उर्स के मौके पर दरगाह में ख्वाजा गरीब नवाज के चाहने वालों पर हर आम और ख़ास का अपनी-अपनी अकीदत के अनुसार चादर पेश करने का दौर शुरू हो गया है। इस कड़ी ख़ास की बात करे तो दरगाह में सबसे पहली चादर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की ओर से पेश की गई। 

 

वाजपेयी की चादर उनके निजी सचिव शिव कुमार के सुपुत्र लेकर आए। दरगाह में ख्वाजा गरीब नवाज की मजार पर चादर पेश कर वाजपेयी के बेहतर स्वास्थ्य की कामना की गई। साथ ही मुल्क में अमनचैन और भाईचारे की दुआ मांगी गई। चादर पेश करने के बाद बुलंद दरवाजे के करीब वाजपेयी का सन्देश भी पढ़ा गया। सन्देश में वाजपेयी ने मुल्क में भाईचारा, तरक्की और आतंकवाद के खात्मे के लिए ख्वाजा गरीब नवाज से प्रार्थना की। 

 

राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की ओर से उनके परिसहाय जयदेव और सूचना जनसम्पर्क अधिकारी डॉ महेश ने चादर पेश की। चादर और अकीदत के फूल पेश करने के साथ ही राज्यपाल की ओर से दरगाह में प्रदेश की खुशहाली की दुआ मांगी गई। इसके बाद बुलंद दरवाजे पर राज्यपाल कल्याण सिंह का सन्देश पढ़कर सुनाया गया। संदेश में दरगाह आने वाले तमाम जायरीन को राज्यपाल ने उर्स की मुबारकबाद दी है। साथ ही प्रदेश में भाईचारा कायम रहने और खुशहाली की कामना की गई|

 

Atal Bihari Vajpayee, Kalyan Singh, Ajmer, Rajasthan, Dargah, Urs Festival

Recommendation