big fraud of bhagwant university again in ajmer

भगवंत यूनिवर्सिटी की फिर बड़ी कारस्तानी, बिना मान्यता के कोयला माइनिंग का डिप्लोमा

Published Date-08-Feb-2017 03:38:47 PM,Updated Date-08-Feb-2017, Written by- Priyank Sharma

अजमेर। अजमेर में एक बार फिर से भगवंत यूनिवर्सिटी की कारस्तानी सामने आई है। यूनिवर्सिटी पहले इंजीनियरिंग के सैकड़ों विद्यार्थियों को बिना मान्यता के दाखिला देकर छल चुकी है। वहीं इस बार कोयला माइनिंग में डिप्लोमा दिये जाने का झांसा देकर सन 2013 से अब तक विद्यार्थियों को डिप्लोमा करवाने के लिए न केवल प्रवेश दे रही है, बल्कि परीक्षा करवाकर उन्हें मार्कशीट भी दे रही है।


माइनिंग डिप्लोमा के विद्यार्थियों का आरोप है कि डीजेएमएस धनबाद से यूनिवर्सिटी के पास कोई मान्यता संबंधी कोई स्वीकृति नहीं है। वहीं एआईसीटी से भी किसी तरह की मान्यता प्राप्त नहीं है। तीन वर्ष बीत जाने के बावजूद यूनिवर्सिटी विद्यार्थियों को बेवकूफ बना रही है। विद्यार्थियों का कहना है कि दाखिले के वक़्त ही भगवंत यूनिवर्सिटी सच्चाई बता देती तो विद्यार्थी अपनी फीस और समय बर्बाद नहीं करते।


विद्यार्थियो का कहना है कि मान्यता के अभाव में यूनिवर्सिटी का प्रमाण पत्र किसी काम का नहीं है। इससे कोयला माइनिंग कंपनियां उन्हें नोकरी नहीं देगी। विद्यार्थियों का कहना है कि भगवंत यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ ही नहीं हो रहा, बल्कि आर्थिक शोषण भी किया जाता है। फाइन के नाम पर हजारों रुपए विद्यार्थियों से वसूले जाते हैं।


विद्यार्थियों ने आज भगवंत यूनिवर्सिटी पर विरोध प्रदर्शन किया तो मैन गेट बन्द कर लिया गया। यूनिवर्सिटी में कोई सकारात्मक जवाब नहीं दे रहा है, बल्कि विद्यार्थियों की अटेंडेंस शार्ट होने की बात कहकर मामले से पल्ला झाड़कर कुछ छात्रों के खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है। विद्यार्थियों का यह भी आरोप है कि कुछ बाहरी तत्वों से उन्हें डराया धमकाया भी जा रहा है।

 

ऐसे में विद्यार्थियों का भविष्य अंधकारमय है। लिहाजा उनका विरोध करना जायज हो सकता है, मगर भगवंत यूनिवर्सिटी के खिलाफ गंभीर आरोप लगे हैं। बावजूद इसके यूनिवर्सिटी के अधिकारी अपना पक्ष देने को तैयार नहीं है।

 

Ajmer, Rajasthan, Bhagwant University, Coal, Mining, Degree, DJMS Dhanbad, Mining Diploma

Recommendation