hosptal running on trust of just a singal compounder

महज एक कम्पाउंडर के भरोसे चल रहा अजमेर उपखण्ड का सबसे बड़ा राजकीय अस्पताल

Published Date-29-Dec-2016 05:06:53 PM,Updated Date-29-Dec-2016, Written by- Priyank Sharma

अजमेर। उपखंड के सबसे बडे राजकीय चिकित्सालय का नेत्र रोग विभाग इन दिनों महज एक कम्पाउंडर के भरोसे चल रहा है। चिकित्सालय में कार्यरत नेत्र रोग चिकित्सक के अधिकांश दिन अवकाश पर होने के कारण शहर सहित आसपास के रोगियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले रोगियों को बिना उपचार व परामर्श के ही वापस लौटना पड़ रहा है। उधर, चिकित्सक के अवकाश पर होने के कारण यहां कार्यरत कम्पाउंडर नेत्र रोगियों का परीक्षण कर रहा है।


जानकारी के अनुसार राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के नेत्र रोग विभाग में एक चिकित्सक कार्यरत है। बताया जा रहा है कि एकमात्र नेत्र रोग विशेषज्ञ होने के बावजूद उक्त चिकित्सक अधिकांश समय अवकाश पर ही रहती है। बताया जा रहा है कि पिछले दो-तीन दिनों से चिकित्सक मेडिकल अवकाश पर चल रही है। चिकित्सक की सीट पर ‘चिकित्सक अवकाश पर है’ का बोर्ड लगा होने के कारण अस्पताल में आने वाले रोगी बिना चिकित्सा परामर्श लिए ही लौट जाते है।


गुरुवार को चिकित्सालय में कांग्रेस की एक वरिष्ठ कार्यकर्ता व पार्षद कमला दगदी अपनी आंखों की जांच करवाने वहां पहुंची तो पता चला कि चिकित्सक तो अवकाश पर है। चिकित्सक के अवकाश पर होने कारण चिकित्सालय में कार्यरत एक कम्पाउंडर ने महिला पार्षद की आंखों की जांच की। पार्षद कमला दगदी ने भी चिकित्सालय में नेत्र रोग चिकित्सक के नहीं होने पर रोष जताते हुए इसकी शिकायत पीएमओ से करने की बात कही है।


गौरतलब है कि शहर का राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय उपखंड का सबसे बड़ा राजकीय चिकित्सालय है, जहां पर शहर सहित आसपास के चार जिलों सहित ग्रामीण क्षेत्र का दबाब रहता है। लेकिन नेत्र रोग चिकित्सक के नहीं होने के कारण रोगियों को परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है।

 

Ajmer Rajasthan Eye Hospital Government Hospital Amritkaur Hospital

Recommendation