ख़्वाजा गरीब नवाज के 805 वे उर्स का अनौपचारिक आगाज, बुलंद दरवाजे पर चढ़ा झंडा

Published Date 2017/03/24 20:22, Written by- Priyank Sharma

अजमेर। अजमेर में विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख़्वाजा गरीब नवाज के 805 वे उर्स का आगाज अनौपचारिक रूप से हो गया है। दरगाह की सबसे ऊचे बुलंद दरवाजे पर आज झंडा चढ़ाने की रस्म अदा की। इस रस्म के मायने है कि ख़्वाजा गरीब नवाज का उर्स शुरू होने वाला है। वर्षों से भीलवाड़ा का गौरी परिवार झंडे की रस्म को अदा करता आया है। इस बार भी गौरी परिवार के वंशज फकरुद्दीन झंडा लेकर आए। दरगाह गेस्ट हॉउस से झंडे का जुलुस निकाला गया। जुलुस में खादिम समुदाय के लोग और जायरीन शामिल हुए। बैड बाजो और ढोल ताशों के साथ निजाम गेट होते हुए जुलुस बुलंद दरवाजे पर पहुचा।


इस बीच खचाखच भरे दरगाह में जमा लोगों में धार्मिक भावना का ज्वार उमड़ पड़ा। जिसको मौका मिला वो झंडे को छूने और चूमने की कोशिश करता दिखा। बामुश्किल पुलिस ने भीड़ को नियत्रण किया और झंडा बुलंद दरवाजे पर चढ़ा दिया गया। झंडे की रस्म की परम्परा वर्षों पुरानी है। झंडा चढ़ने के साथ ही देश और दुनिया से जायरीन का अजमेर आने का सिलसिला शुरू हो जाता है। आज से दरगाह क्षेत्र में जायरीन की आवक बढ़ाना शुरू हो जाएगी। वहीं रजब का चांद दिखने के बाद 28 से उर्स की शुरुआत हो जाएगी।


साल में चार मर्तबा खुलने वाला दरगाह में स्थित जन्नती दरवाजा भी आम जायरीन के लिए खोल दिया जाएगा। वहीं दरगाह में खिदमत का वक़्त भी बदल जाएगा। उर्स के दौरान महफ़िलों का दौर शुरू होगा। देश और दुनिया से आने वाले आशिकाने गरीब नवाज रूहानी फेज में अपने दुःख दर्द भूल कर अकीदत में वक़्त गुजारेंगे।

 

Ajmer, Rajasthan, Dargah Sharif, Ajmer Urs, Ajmer Dargah, Rajasthan News

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------