परचा आने का भय दिखा कर गहने लूटने और हत्या करने आरोपी पति-पत्नी को आजीवन कारावास

Published Date 2016/11/18 21:09, Written by- FirstIndia Correspondent

बांसवाड़ा। सेशन कोर्ट ने बहला-फुसला कर एक युवती के गहने लूटने और हत्या के मामले में एक पति-पत्नी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई, जबकि एक अन्य आरोपी सास को संदेह का लाभ देते हुए बरी किया गया है।


बताया जाता है कि गढी निवासी वासुदेव ने 2 फरवरी 12 को रिपोट दर्ज करवाई कि रणजीत पुत्र ईश्वर सिंह देवडा निवासी तहसील गढी गांव बारी में पिछले 1 वर्ष से किराए पर रह रहा था। यह प्रचारित किया गया कि रण्जीत की पत्नी संगीता को दशा माता का भार आता है। अन्य लोगों को देखकर उसकी पत्नी भी उनके जाल में फंस गई।

 

पति-पत्नी ने परिवार की मौत का भय बताकर तुलसी व उसकी पुत्रवधु के गहने हड़प लिए। इसके बाद तुलसी परेशान रहने लगी तो परिवार वालों के पूछने पर उसने सारा घटना क्रम बताया।


30 जनवरी को तुलसी लोहारिया घर जाने का कह कर निकली, लेकिन वापस नहीं लौटी। रणजीत व संगीता ने तुलसी का गला घोटकर हत्या कर दी। लाश बोरी में बंद कर उसे चाप नदी में फेंक आए। पुलिस ने मामले में लगभग 30 गवाह पेश किए। न्यायाधीश देवेन्द्र प्रकाश शर्मा ने आरोपी पति-पत्नी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

 

Banswara Rajasthan Sessions Court Life Imprisonment Fraud Thagi

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------