New initiative of Swami Harshananda Yoga education given by Swami Harshananda to prisoners

स्वामी हर्षानंद ने शुरू की एक नई पहल, कैदियों को दी योग शिक्षा

Published Date-30-Mar-2017 12:03:31 PM,Updated Date-30-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

भरतपुर| भरतपुर में स्थित सेंट्रल जेल सेवर में कैदियों को योग शिक्षा देकर अपराध से अध्यात्म की तरफ अभियान को शुरू कर स्वामी हर्षानंद ने एक नई पहल शुरू की है जिससे नीदरलैंड की तरह हमारे देश में भी जेलों की जरुरत नहीं हो सके| अभी तक देश की 182 जेलों में कैदियों को योग शिक्षा दे चुके स्वामी हर्षानंद का कहना है की भारतीय जेलों के अंदर करीब 87 प्रतिशत कैदी झूठे मुकदमों में फंसकर जेल के अंदर आ जाते है लेकिन सभी प्रकार के अपराधियों को योग शिक्षा से जोड़कर उनकी सोच को सकारात्मक बनाया जा सकता है| 

 

स्वामी के अनुसार जर्मनी देश में साउंड बेस्ड एमबीबीएस कोर्स कराया जाता है जिससे लोगों का प्राकर्तिक ध्वनि के आधार पर पर उपचार किया जा सके इसलिए इस अनूठी पहल को भारत में लाने का प्रयास जमनी के साथ टाई अप करके किया जा रहा है और यहाँ भी ध्वनि आधारित एमबीबीएस कोर्स के लिए एक विश्विधालय की स्थापना की जाएगी| स्वामी ने बताया की हमारे देश में करीब 70 लाख साधु है यदि वे अपना कर्तव्य सही तरीके से निभाए और देश में सामाजिक सुधार के कार्य करें तो हमारा देश एक दिन विश्व गुरु बन सकता है|

 

Swami Harshananda, Bharatpur, Rajasthan, Prisoners, Jail, Yoga Education

Recommendation