विदेश गए पति का ढ़ाई साल से इंतजार कर रही महिला ने अब विदेश मंत्री को पत्र लिखकर लगाई गुहार

Published Date 2017/01/07 20:06, Written by- Pawan Tailor

जयपुर। कामधंधे और अपने परिवार के लालन-पोषण के लिए जब देश में कोई व्यवस्था नहीं हो पाती है, तो कई लोग अपना परिवार पालने के लिए विदेश चले जाते हैं और वहां कोई का करके अपने और अपने परिवार के लिए दो जून की रोटी की व्यवस्था करते हैं। इनमें से अधिकांश लोग अपनी व्यवस्था और जरूरत के अनुसार काम करके वापस अपने देश लौट आते हैं, लेकिन कुछ बदनसीब ऐसे भी होते हैं, जो किन्ही कारणों की वजह से विदेश से वापस नहीं लौट पाते। ऐसे में उनके परिवार वालों पर क्या बीतती होगी, इसका अंदाजा भी लगाना मुश्किल है।


ऐसा ही एक मामला सामने आया है, राजस्थान के बीकानेर जिले में, जहां एक महिला ने पिछले ढाई साल से लापता चल रहे अपने पति की तलाश करने के लिए विदेश मंत्रालय से गुहार लगाई है। बीकानेर जिले की नोखा तहसील के उड़सर गांव में रहने वाली सुमित्रा खीचड़ ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को एक पत्र लिखा है, जिसमें उसने बताया कि, उसके पति ढाई साल पहले दुबई गए थे, लेकिन पिछले एक साल से उनका कुछ पता नहीं चल रहा है।


सुमित्रा ने विदेश मंत्री से पूछा है कि, 'सुषमा जी मुझे बताएं कि मैं उनका कब तक इंतजार करूं।' सुमित्रा ने बताया कि, 'मेरी शादी 4 साल पहले ही हुई थी और मेरे एक 2 साल की लड़की है। मैं क्या जवाब दूं बच्ची को कि उसके पापा क्यों नहीं आ रहे। कब तक मैं उस बच्ची को और खुद को दिलासा देती रहूं।' सुमित्रा ने विदेश मंत्री से गुहार लगाते हुए लिखा है कि, 'हो सके तो यह छोठी सी मदद मेरी भी कर दीजिए। तो मैं तथा मेरी बच्ची आपका यह अहसान जिंदगी भर नहीं भूलेंगे।'


गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में ऐसे बहुत से मामले सामने आए हैं, जिनमें किन्ही कारणों के चलते कुछ लोग न तो विदेश से वापस अपने घर लौट पाए हैं और न ही उनसे कोई सम्पर्क हो पाया है। अपने परिजन का इंतजार कर रहे घरवालों ने जब अपनी पीड़ा विदेश मंत्रालय तक पहुंचाई, तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मामले में गंभीरता बरतते हुए कोई समुचित समाधान निकालने के पूरे प्रयास किए हैं। इनमें से कई मामलों में विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों अपने घर लौटने में पूरी मदद मिली है।


बहरहाल, ऐसे में अपने पति के बारे में पता लगाने के लिए विदेश मंत्री से लगाई गई गुहार को लेकर सुमित्रा और उसकी बेटी की सारी उम्मीदें अब सुषमा स्वराज पर टिकी है। सुमित्रा को पूरी उम्मीद है कि विदेश मंत्री उनकी यह फरियाद जरूर सुनेगी और उसके पति के बारे में जल्द से जल्द कुछ पता लगाकर उसे वापस अपने घर लौटने में मदद करेंगी, जिससे एक पत्नी को उसका पति और पिछले ढाई सालों से अपने पिता का इंतजार कर रही मासूम बिटिया को उसके पिता का लाड़—प्यार नसीब हो सकेगा।

 

Jaipur Bikaner Rajasthan Dubai UAE Foreign Minister Sushma Swaraj

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------