not any work in implementation of Camel Development Plan

ऊंटों के संवर्धन के लिए बनी 'ऊष्ट्र विकास योजना' की क्रियान्विति में नहीं हो रहा कोई काम

Published Date-06-Jan-2017 03:22:30 PM,Updated Date-06-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

बीकानेेर। जिले में ऊंटों के संवर्धन की ऊष्ट्र विकास योजना के तहत पशुपालन विभाग ने भी इस योजना की क्रियान्विति की दिशा में कोई काम नहीं किया है। ऊंटों की संख्या में लगातार हो रही गिरावट को रोकने के लिए राज्य सरकार ने संवर्धन की योजना अभी तक लागू नहीं की गई है। वर्ष 2015 की पशुगणना के अनुसार प्रदेश में तीन लाख से अधिक ऊंट बताए जाते हैं।


ऊंटों के संवर्धन के लिए बनी योजना में ऊंटनी के बच्चा (टोडिया-टोरडी) होने पर 18 माह में 10 हजार रुपए की आर्थिक सहायता तीन किश्तों में ऊंटनी के बच्चे के लालन-पालन के बतौर देने की घोषणा की है। योजना को लागू करने की जिम्मेदारी पशु पालन विभाग को दी गई है। बीकानेर में जिले में अभी ऊंटों की संख्या 46 हजार बताई जा रही है। जिले में इस योजना के तहत अभी तक एक भी ऊंट पालक को किश्त का भुगतान नहीं हुआ है।

 

Bikaner Rajasthan Camel Promotion Department of Animal Husbandry Rajasthan News

Recommendation