Layoffs in Reliance Comm and HUL

रिलायंस कॉम और HUL में छंटनी की तलवार, कर्मचारियों के चेहरे से खुशी गायब

Published Date-08-Apr-2017 12:59:58 PM,Updated Date-08-Apr-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

अप्रैल-मई का महीना सैलरी बढ़ने का होता है, लेकिन रिलायंस कम्युनिकेशंस और एचयूएल के कर्मचारियों के चेहरे से खुशी गायब है। वजह है छंटनी। भारी कर्ज से डूबी रिलायंस कम्युनिकेशंस ने करीब 800 कर्मचारियों को पिंक स्लिप पकड़ा दिया है और अब एचयूएल में भी छंटनी की खबरें आ रही है। रिलायंस कम्युनिकेशंस ने पिछले कुछ हफ्तों में 800 से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी की है। वहीं कंपनी ने वेंडर्स और दूसरी टेलीकॉम कंपनियों को वक्त पर पेमेंट नहीं किया है। वेंडर्स को 2 महीने से इंटरकनेक्ट चार्ज का भुगतान भी नहीं किया गया है। रिलायंस कम्युनिकेशंस पर करीब 37000 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है।

 

वहीं एफएमसीजी सेक्टर की दिग्गज कंपनी एचयूएल में बड़े पैमाने पर छंटनी हो सकती है। जी हां, ऐसी खबर है कि नीदरलैंड्स की पैरेंट कंपनी यूनिलीवर ने खर्चे घटाने के लिए ग्लोबल प्लान बनाया है। और इस प्लान के तहत भारत में 10 से 15 फीसदी कर्मचारियों को निकाला जा सकता है। छंटनी का एलान अप्रैल के आखिर तक होने की आशंका है। यही नहीं नई भर्तियों में भी कटौती की आशंका जताई जा रही है। आपतो बता दें कि 2015-16 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में 18 हजार कर्मचारी एचयूएल के तमाम प्लांट्स में नौकरी करते हैं।

 

Hindustan unilever limited, Reliance communication, Employees, Salary, Disappear

Recommendation