46 islamic clerics fatwa against assam singer nahid afrin

इस्लामी धर्मगुरुओं ने की टेलेंट को दबाने की कोशिश जारी किया फतवा

Published Date-16-Mar-2017 01:14:10 PM,Updated Date-16-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

हमेंशा से प्रतिभावों को मुश्किलो का सामना करना पड़ा है,और इस बार इस्लामी धर्मगुरओं के एक समूह ने ‘फतवा’ जारी कर असम की एक प्रतिभाशाली किशोरी गायिका नाहिद आफरीन के टेलेंट को दबाने की कोशिश की है। इस समूह ने नाहिद को किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में प्रस्तुति देने से मना किया है। लेकिन बेपरवाह गायिका नाहिद ने भी कहा कि वह ऐसी किसी भी धमकी से डरने वाली नहीं है।

असम में अपनी तरह के इस पहले मामले में जारी ‘फतवे’ में इंडियन आइडल जूनियर के वर्ष 2015 संस्करण की उप विजेता 16 वर्षीय नाहिद आफरीन को 25 मार्च को होने वाले एक संगीत कार्यक्रम से दूर रहने के लिए कहा गया है। इसमें दावा किया गया है कि यह कार्यक्रम ‘शरिया के विरुद्ध’ है।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानन्द सोनोवाल ने इस फतवे की निंदा की है साथ ही नाहिद आफरीन को सुरक्षा उपलब्ध कराने को कहा है। सोनोवाल ने एक बयान जारी कर कहा, कला और संस्कृति के खिलाफ इस तरह के आदेश अस्वीकार्य हैं और यह किसी के सांस्कृतिक अधिकारों की स्वतंत्रता के उल्लंघन के बराबर है। इस फतवे के विषय में नाहीद ने कहा कि मेरे ख्याल से संगीत अल्लाह की देन है. मैं इस तरह की चेतावनी के समक्ष झुकने वाली नहीं हूं और गाना कभी नहीं छोड़ूंगी।


India, Asam, Nahid Afrin, Islam Darmguru, Fatwa, Indian Idol Junior, Singing

Recommendation