चार साल तक लोगों को लूटती रही इस 'खूबसूरत बला' की गैंग, वसूली की रकम में पुलिस का भी होता था हिस्सा

Published Date 2017/01/07 20:43, Written by- Ramswaroop Lamror

जयपुर (रामस्वरूप लामरोड़)। हाई प्रोफाइल सेक्स एंड ब्लैकमेल गैंग चार साल तक लोगों को लूटती रही और वसूली गई रकम में से स्थानीय पुलिस अपना हिस्सा लेती थी। एसओजी के आईजी दिनेश एमएन के सामने जैसे ही ये प्रकरण आया तो उन्होंने तुरंत एक्शन लिया। दिनेश एमएन के निर्देशन में एडिशनल एसपी करन शर्मा और उनकी टीम अब पूरे नेटवर्क का पता लगाने में जुटी है। इंस्पेक्टर सूर्यवीर सिंह और मनोज गुप्ता इस गैंग के हर पहलू का पता लगा रहे हैं। अब तक की पूछताछ में करीब 50 वारदातें किए जाने की जानकारी सामने आई है।


एडिशनल एसपी करन शर्मा ने बताया कि एसओजी में सात एफआईआर दर्ज हुई हैं, जिनमें डॉक्टर, फैक्ट्री मालिक, होटल मालिक, दो ठेकेदार और एक रिसोर्ट मालिक ने मुकदमा दर्ज कराया है। इन एफआईआर के बाद परिवाद आने का सिलसिला अभी जारी है। आरोपी कैलाश के मामा ससुर ने भी परिवाद दे दिया है। आमेर निवासी इस पीड़ित से साढ़े चार लाख रुपए ऐंठ लिए थे। पुलिस के मुताबिक सामाजिक रूप से बदनामी के डर से पीड़ित सामने नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि एसओजी पीड़ितों के नाम गोपनीय रख रही है।


ऐसे में जो भी पीड़ित हो, उन्हें बेहिचक एफआईआर देनी चाहिए, ताकि घिनौना खेल खेलने वालों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा सके। इस गैंग से जुड़े बदमाशों की तलाश लगातार जारी है। फरार आरोपी एडवोकेट नवीन देवानी और नितेश बंधु की तलाशी के लिए इमिग्रेशन डिपार्टमेंट को भी सूचना दे दी गई है, ताकि विदेश भागने की कोशिश करने पर इनके बारे में सूचना मिल सके। 


यूं चला एफआईआर का सिलसिला, करोड़ों रुपए के ऐंठे :

  • 30 दिसम्बर को इस प्रकरण की पहली एफआईआर वैशाली नगर निवासी एक डॉक्टर ने करवाई। इस गैंग ने डॉक्टर से एक करोड़ पांच लाख रुपए वसूल किए।
  • दूसरी एफआईआर भांकरोटा के पास रीको एरिया स्थित एक फैक्ट्री मालिक ने दर्ज कराई। इस गिरोह ने फैक्ट्री मालिक से 10 लाख रुपए वसूले।
  • तीसरी एफआईआर जालूपुरा निवासी एक होटल मालिक ने दर्ज करवाई। गैंग में शामिल युवती ने होटल मालिक के खिलाफ मई 2015 में जालूपुरा थाने में मुकदमा करवाया और फिर बयान बदलकर राजीनामा करके 14 लाख रुपए वसूले।
  • चौथी एफआईआर वैशाली नगर निवासी एक ठेकेदार ने दर्ज करवाई। ठेकेदार से सात लाख रुपए वसूले गए।
  • पांचवी एफआईआर आरोपी कैलाश के रिश्तेदार ने करवाई। रिश्तेदार से 3 लाख रुपए वसूले गए।
  • छटी एफआईआर वैशाली नगर निवासी एक व्यक्ति ने कराई, जिनका अवलर में रिसोर्ट है। इस रिसोर्ट मालिक से इस गैंग ने 35 लाख रुपए वसूले थे।
  • सातवीं एफआईआर एक ठेकेदार ने दर्ज कराई। ठेकेदार से 20 लाख रुपए वसूले गए।

 

इस खबर से सम्बंधित खबरें भी पढ़ें :

 

Jaipur Rajasthan Blackmail Sex Scandal Special Operations Group SOG Arrest

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------