हाईप्रोफाइल सेक्स एंड ब्लैकमेलिंग मामले की आरोपी युवतियां गिरफ्तार, मुबंई की होटलों में डीजे अदा के नाम से बिखरती थीं जलवे

Published Date 2017/05/16 18:54, Written by- Ramswaroop Lamror

जयपुर। हाईप्रोफाइल सेक्स एंड ब्लैकमेलिंग मामले में एसओजी ने दो और युवतियों को गिरफ्तार किया है। एक युवती जयपुर के ब्रह्मपुरी की रहने वाली शिखा तिवाड़ी उर्फ डीजे अदा हैं, जबकि दूसरी युवती अजमेर निवासी आकांक्षा है। शिखा तिवाड़ी को एसओजी ने मुम्बई से गिरफ्तार किया है, जहां से अपना डीजे अदा नाम का एक म्युजिक ग्रुप चलाती है।


प्रदेश के सबसे चर्चित हाईप्रोफाइल सेक्स एंड ब्लैकमेलिंग मामले की आरोपी युवतियां एसओजी की गिरफ्त में आ गई है। पिछले पांच महीने से पुलिस को इन युवतियों की तलाश थी। ब्लैकमेलिंग मामले का पहला केस जो वैशाली नगर निवासी डॉक्टर सुनीत सोनी ने दर्ज कराया था। उस प्रकरण में ब्रह्मपुरी निवासी युवती शिखा तिवाड़ी को गिरफ्तार किया गया है। एसओजी के एसपी संजय श्रोत्रिय ने बताया कि आरोपी युवती शिखा ने डॉक्टर सुनीत सोनी के मेेडीस्पा सेन्टर में जाकर हेयर ट्रांसप्लांट करने की बात कही। बाद में नजदीकी बढाकर दोस्ती कर ली। फिर उसे किसी बहाने से घूमाने के लिए डॉक्टर सुनीत को पुष्कर ले गई, जहां वह एक होटल में रुकी थी।


पुलिस के मुताबिक इस दौरान दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने ही नहीं थे, लेकिन पुष्कर से जयपुर लौटने के दो दिन बाद आरोपी अक्षत और विजय सिंह ने बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराने की धमकी देते हुए डॉक्टर सुनीत सोनी से एक करोड़ रुपए मांगे। रुपए देने से मना करने पर पुष्कर थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया और कोर्ट में बयान देने के बाद डॉक्टर को पुष्कर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। एसओजी ने इस प्रकरण में अक्षत, विजय, एडवोकेट नवीन देवानी, एडवोकेट नितेश देशबंधु सहित कई आरोपियों को गिरफ्तार किया। 


एसओजी के एडिशनल एसपी करण शर्मा ने बताया कि आरोपी युवती शिखा ने ब्लैकमेलिंग के रूप में लाखों रुपए ऐंठने के बाद मुम्बई शिफ्ट हो गई थी। शिखा तिवाड़ी ने अपना खुद का एक डीजे म्युजिक ग्रुप तैयार कर लिया था, जिसका नाम डीजे अदा रखा गया। शिखा अपने म्युजिक ग्रुप के बैनर तले मुम्बई की होटलों में जाकर प्रस्तुतियां देती थीं। एसओजी को जब शिखा के इस काम के बारे में पता चला तो एक सब इंस्पेक्टर और महिला कांस्टेबल को मुम्बई भेजा गया। शनिवार रात को शिखा लोखंडावाला अंधेरी वेस्ट मुम्बई स्थित एक होटल में परफोरमेंस दे रही थीं। इसी दौरान एसओजी की टीम ने प्रोग्राम के तुरंत बाद उसे पकड़ लिया और उसे जयपुर लाया गया। गिरफ्तार की गई शिखा तिवाड़ी को एसओजी ने कोर्ट में पेश किया, जहां से कोर्ट ने उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है।


एक करोड़ रुपए लेकर किया था राजीनामा :
ब्लैकमेलर गैंग के सदस्यों ने एक करोड़ रुपए लेकर डॉ सुनीत सोनी से राजीनामा किया था। शिखा से हुई पूछताछ के बाद एसओजी ने एक और लड़की आकांक्षा को भी हिरासत में लिया है। आंकाक्षा अजमेर की रहने वाली है। ब्लैकमेलिंग गैंग के सूत्रधार अक्षत ने आकांक्षा को सिरसी रोड़ स्थित जेनेसिस अपार्टमेंट में एक फ्लेट भी दिलवाया था। आरोपी अक्षत जेनेसिस अपार्टमेंट के मैनेजमेंट और सुरक्षाकर्मियों को आकांक्षा को अपनी बहन बताया था। गौरतलब है कि ब्लैकमेलिंग गैंग के अलग—अलग गिरोह के 33 सदस्यों को एसओजी गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

 

Jaipur Rajasthan Blackmail SOG Police DJ Adaa Shikha Tiwari Crime News Rajasthan News

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------