RU में पुलिस-छात्रों में जमकर हुई लड़ाई, कैम्पस में छात्रों ने की पत्थरबाजी

Published Date 2017/05/19 17:44, Written by- Bharat Dixit

जयपुर| प्रदेश की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी में आज जमकर हंगामा बरपा| पेपरों को पुन नहीं कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं ने आज यूनिवर्सिटी में जमकर  तोड़फोड़ यहीं नहीं छात्रों ने विवि रजिस्ट्रार की गाड़ी में तोड़फोड़ की ओर गाडी के सीसे तोड़ दिए| सबसे खास बात ये रही की जब छात्र तोड़फोड़ कररहे थे| जब पुलिस मूकदर्शक बन कर यूनिवर्सिटी के गेट पर  खड़ी रही| इस दौरान पुलिस और छात्र आमने सामने हुए औऱ जमकर झडप हुई जिसमें छात्रों की ओऱ से भी पत्थरबाजी की गई| पुलिस ने इस पूरे मामले में एक दर्जन से अधिक छात्रों को हिरासत में लिया वहीं दो छात्रों को तोड़फोड़ करने के  मामले में गिरफ्तार किया| इस पूरे  मामले  मे एक पुलिसकर्मी का सिर फूट गया| 

 

पेपर लीक प्रकरण के बाद राजस्थान यूनिवर्सिटी ने एसओजी की रिपोर्ट के आधार पर पांच पेपरों को रद्द किया, मगर जब बीकॉम के छात्र जिनकी परीक्षाएं पूरी हो चुकी थी, उसके बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने बीकॉम के पांच पेपरों को रद्द करने का फैसला लिया इस पर छात्रों का गुस्सा जमकर फूटा| इस पूरे मामले में छात्रों ने कल कुलपति सचिवालय पर प्रदर्शन किया मगर जब बात नहीं बनी तो आज छात्रों ने खासी संख्या में सुबह से ही यूनिवर्सिटी में जमा हो गए| धीरे-धीरे प्रदर्शन उग्र शूरू हुआ| इस दौरान छात्र-छात्राओं ने जमकर नारेबाजी की मगर यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से कोई भी अधिकारी छात्र-छात्राओं से वार्ता करने के लिए नहीं पुहंचा| गुस्साई छात्र एडम ब्लॉक पर आकर प्रदर्शन  करने लगे इस दौरान छात्रो ने रजिस्ट्रार की गाड़ी को निशाना बनाया और गाड़ी पर चढ़कर नारेबाज की और गाड़ी को पूरी तरह से तहस नहस कर दिया| छात्रों की माग है कि ये परीक्षाएं पुन नहीं कराई जाए| उनका कहना हैकि कई  छात्र सीएस और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है ऐसे में वो बीकॉम के पेपरों की तैयारी  करे या फिर सीएस और प्रतियोगी परीक्षाओं की, उनका कहना है कि पेपर उनकी वजह से रद्द नहीं हुए है ये यूनिवर्सिटी प्रशासन की गलती है तो इसको यूनिवर्सिटी ही भुगते इसका खामियाजा छात्रा क्यो भुगते?

 

आपको बता दे कि राजस्थान यूनिवर्सिटी ने बुधवार देर शाम में बीकॉम के पांच पेपरों को रद्द करने का फैसला किया..इससे पहले भी यूनवर्सिटी प्रशासन पेपरलीक के चलतेपरीक्षाएं रद्द कर चुका है| छात्रों के सामने समस्या ये ही कि उन्होने पेपर खत्म होने के बाद अपनी किताबे बेच दी और अन्य परीक्षाओं की तैयारी में जुट गई...वहीं यूनिव्र्सिटी प्रशासन की तरफ से दबाब ये है कि एसओजी ने जो रिपोर्ट दी है उसके आधार पर उनकों परीक्षाओं को पुन आयोजित करवाना है| पूरे मामले पर यूनिवर्सिटी प्रशासन वैकफुट पर आया औऱ उसने रद्द परीक्षाओं की तिथी को आगे खिसकाने का फैसला लिया, मगर छात्र-छात्राएं इस निर्णय से सहमत नहीं है छात्रों की माग है कि यूनिवर्सटी प्रशासन इन परीक्षाओं को दोवारा आयोजित नहीं करवाएं| यहीं नहीं छात्रों का ये भी कहना है कि अब अगर हम दोबारा पढाई करते हैतो हमारे पास समय भी कम है और फिर रिजल्ट भी हमारा लेट आएगा जिसके चलते उनका भविष्य दाव पर लगा हुआ है|
 

जो हालत आज यूनिवर्सिटी कैमप्स में दिखे उसे देखकर ये लगता  है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन पूरे मामले में चुप्पी साध कर पूरा तमाशा देखरहा है| छात्रों की समस्या सुनने के लिए ना तो कुलपति पहुंचे और ना ही रजिसट्रार जिसके चलते छात्रों को उग्र होना पड़ा| एक और जहां छात्रों की मांग है की पेपरों को पुनः नहीं कराया जाए वहीं यूनिवर्सिटी प्रसासन अभी तक अपना निर्णय नहीं सुना पाया है अब देखना ये होगा कि क्या छात्रेों की मांग के आगे यूनिर्सिटी प्रशासन वैकफुट परआता है|

 

RU, Police, Rajasthan, Students, Paper Leak, Paper, Exam

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------