Pranab Mukherjee says Indias Democracy Model for the World

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का भैंरोसिंह स्मृति व्याख्यान में संबोधन- 'हिन्दुस्तान का लोकतंत्र दुनिया के लिए मॉडल'

Published Date-15-May-2017 05:56:34 PM,Updated Date-15-May-2017, Written by- Dinesh Kumar Dangi

जयपुर | राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कहना है कि हमारा लोकतंत्र करीब 150 साल से दुनिया के लिए एक रोल मॉडल है और यह तब तक बना रहेगा जब तक हम इसके स्टेण्डर्ड को मैंटेन रखेंगे| पू्र्व उपराष्ट्रपति भैरोसिंह की स्मृति व्याख्यान कार्यक्रम में बोलते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि हमारी डेमोक्रेसी में लोकसभा और विधानसभाओं को अनलिमिटेड पावर मिली हुई है| इसलिए संसदीय प्रणाली में सांसदों को डेमोक्रेसी के थ्री डी का बेहतर और प्रोपर इस्तेमाल करना चाहिए यानि डीबेट, डीसेंशन और डीसिजन प्रोपरली फोलो करना चाहिए|

 


मुखर्जी ने कहा कि अगर इन पावर का इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं तो इसके लिए दूसरों को दोष देने के बजाय खुद को दोषी मानने के लिए तैयार रहना चाहिए| मुखर्जी ने कहा कि जो भी हाउस या फिर सदन में टैक्स लगाने, नौकरी देने औऱ सैलरी बढाने जैसे फैसले लिए जाते हैं तो यह कोई सरकारों का फैसला नहीं मानना चाहिए| बल्कि यह होना चाहिए कि वो किसी हाउस और सदन के फैसले हैं|

 

मुखर्जी ने राज्यसभा और नीति आयोग के कार्यकाल के दौरान भैरोसिंह से मिले अनुभवों को भी साझा किया| मुखर्जी ने कहा कि पंचवर्षीय योजना बनाने के दौरान सिंह ने मुझे एक फार्मूला सुझाया, जिसको मैंने सिंह के साथ लंबी वार्ता के बाद लागू भी किया|

 


Jaipur, Rajasthan, Bhairon singh shekhawat, Pranab Mukherjee, Indian Democracy, Memorial Lecture

Recommendation