Refinery s MOU in the presence CM Raje and minister of petroleum

सीएम राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री की मौजूदगी में रिफाइनरी को लेकर हुआ MOU

Published Date-18-Apr-2017 06:48:19 PM,Updated Date-18-Apr-2017, Written by- Dinesh Kumar Dangi

जयपुर | राजस्थान के विकास के सपने को उस वक्त पंख लग गए जब अहम प्रोजेक्ट रिफाइनरी को लेकर एमओयू हुआ| एक निजी होटल में सीएम वसुंधरा राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान की मौजूदगी में एमओयू हुआ| धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि संभवतया सितम्बर में रिफाइनरी का काम शुरु हो जाएगा और अगले चार साल में रिफाइनरी शुरु भी हो जाएगी|

 

प्रधान ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार ने रिनेगोशिएसन करके चालीस हजार करोड़ रुपए का भार कम किया| प्रधान ने कहा कि तीन साल तकनीकी औऱ पर्यवारणीय मंजूरी लेने के चलते देरी हुई, लेकिन अब जल्द काम शुरु करने के लिए हर 15 दिन बाद राज्य और केन्द्र सरकार के साथ HPCL के अधिकारियोंं की रिव्यू बैठक होती रहेगी|

 


इस दौरान प्रधान ने कांग्रेस शासन में हुए एमओयू को बकवास करार देते हुए चुनाव लाभ लेने वाला समझौता बताया| सीएम राजे ने कहा कि रिफाइनरी लगने के बाद पश्चिम राजस्थान के डेजर्ट एरिया की तकदीर बदल जाएगी और हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा| राजे ने बताया कि 43 हजार करोड़ की लागत की रिफाइनरी की उम्र तीस साल होगी| राजे ने कहा कि रिफाइनरी के जरिए करीब 43 हजार 139 करोड़ रुपए का निवेश होगा|

 


राजे ने पूर्ववर्ती सरकार के एमओयू को गलत बताते हुए कहा कि कहां 56 हजार करोड़ का भार था और कहां अब 16 हजार करोड़ रुपए पर भार आ गया है| इसके साथ ही गैस पाइपलाइन को लेकर भी एक एमओयू हुआ| कोटा में गैस पाइपलाइन बिछाने को लेकर यह एमओयू हुआ| गेल और राजस्थान सरकार के बीच एमओयू हुआ| इस दौरान केन्द्रीय राज्य मंत्री पीपी चौधरी,बाड़मेर सांसद कर्नल सोनाराम, राजस्थान सरकार के तमाम मंत्री, पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी औऱ बाड़मेर के विधायक मौजूद रहे|

 

Jaipur, Rajasthan, MOU, Rajasthan CM, Vasundhara raje, Dharmendra Pradhan, Central minister of petroleum, Refinery

Recommendation