son murdered his mother after yesterday murder of son in law

राजधानी में जारी है रिश्तों का खून, कल दामाद की हत्या के बाद अब एक बेटे ने की मां की हत्या

Published Date-18-May-2017 05:07:49 PM,Updated Date-19-May-2017, Written by- Ramswaroop Lamror

जयपुर। राजधानी जयपुर में एक तरफ दामाद की गोली मारकर हत्या की जाती है, तो वहीं दूसरी ओर बेटे ने मां की हत्या करने के बाद पत्नी को भी मौत के घाट उतार दिया। खून के रिश्तों का खून करने वाली यह वारदात आगरा रोड स्थित प्रेम नगर की न्यू खंडेलवाल कॉलोनी में हुई। 58 वर्षीय नात्थी देवी और 30 वर्षीय संतोष वर्मा को उनके बैडरूम में ही नुकीले हथियार से हमला करके और गला घोंट कर मौत के घाट उतार दिया गया। यह जघन्य हत्याकांड सुबह साढ़े पांच बजे से आठ बजे के बीच हुआ है। यानी महज ढाई घंटे के बीच इस पूरी वारदात को अंजाम दिया गया।


हत्या के बाद घटनास्थल से साक्ष्य मिटाने का भी प्रयास किया गया। नुकीले हथियार से पेट में हमला किए जाने पर जाहिर है कि वहां खून ही खून फैल जाता, लेकिन घटनास्थल पर ऐसा नहीं था। यानी नात्थी और संतोष दोनों के कमरों में खून को साथ किया जा चुका था। घर के अन्दर किसी बाहरी व्यक्ति के आने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। ऐसे में इस हत्याकांड में नात्थी देवी के बेटे विक्की ऊर्फ कैलाश वर्मा का नाम सामने आ रहा है। पुलिस ने विक्की वर्मा को हिरासत में ले लिया है। पुलिस को घटना की जानकारी सुबह करीब आठ बजे मिली। सूचना मिलने पर खोह नागोरियान थाना पुलिस की टीम मौके पर आई।


डीसीपी कुंवर राष्ट्रदीप, एडीशनल पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार, पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल और डीसीपी क्राइम विकास पाठक मौके पर पहुंचे। घटना स्थल का बारीकी से मुआयना करने के साथ एफएसएल टीम ने भी मौके से महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए हैं। पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने बताया कि परिवार के सदस्यों से पूछताछ कर हत्यारे का पता लगाया जा रहा है।


सुबह करीब आठ बजे विक्की के चिल्लाने पर ही पड़ौसी इक्कठे हुए और तब यह सूचना पुलिस तक पहुंची। विक्की वर्मा के पिता बाबूलाल वर्मा होटल अशोक में कुक हैं। वे रोजाना सुबह साढे पांच बजे घर से होटल के लिए निकल जाते हैं। रोजाना की तरह आज भी वे सुबह साढे पांच बजे होटल चले गए। बाद में बेटे द्वारा फोन करने पर वापस घर लौटे। उन्होंने किसी भी तरह की रंजिस से इनकार किया है।


उधर विक्की उर्फ कैलाश वर्मा ने भी कहा कि सुबह करीब आठ बजे जब वह उठा, तब मां और पत्नी दोनों अपने अपने कमरे में लहूलुहान पड़ी हुई थी। कैलाश पत्नी के रूम में सोने के बजाय बाहर के कमरे में सो रहा था। उसने यह भी कहा कि पत्नी के कमरे में अलमारी रखी है, जिसका लॉकर टुटा हुआ है और उसमें से पचास हजार रुपए गायब हैं।


घटनास्थल से खून साफ करने और अन्य साक्ष्य मिटाने और विरोधाभाषी बयान देने पर पुलिस को कैलाश वर्मा पर ही हत्या की वारदात को अंजाम देने का संदेह जताया है। एफएसएल टीम ने दोनों कमरों, किंचन और बाथरूम से महत्वपूर्ण नमूने उठाने के बाद कैलाश वर्मा के नाखून से भी कुछ नमूने लिए हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक साक्ष्य नष्ट करने का प्रयास करके वारदात पर पर्दा डालने की कोशिश की गई है। पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने कहा है कि पुलिस की स्पेशल टीम तफ्तीश में जुटी है। जल्द ही वारदात का खुलासा किया जाएगा।


मृतका नात्थी देवी का बेटा और संतोष वर्मा का पति कैलाश वर्मा सरकारी टीचर है। प्रारम्भिक पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। कैलाश के पेंट और शर्ट भी पुलिस ने जब्त करके एफएसएल भिजवाए हैं। दोनों महिलाओं को शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है।

 

Jaipur Rajasthan Murder Death Crime News Rajasthan News

Recommendation