State Child Protection Commission will run for 45 days till the student awareness campaign

राज्य बाल संरक्षण आयोग की और से चलेगा 45 दिन तक छात्र जागरुकता अभियान

Published Date-17-Apr-2017 07:39:17 PM,Updated Date-17-Apr-2017, Written by- Bharat Dixit

जयपुर। राज्य बाल संरक्षण आयोग की ओर से यूवाओं और छात्राओं को जागरुक करने के लिए प्रदेश में एक के बाद एक नवाचार किये जा रहे है। बढ़ते बाल अत्याचारों को रोकने के लिए बाल संरक्षण आयोग की और से कैम्प लगाकर लोगों को जागरुक किया जा रहा है।

 

राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने बताया की आयोग की और से कोटा और अजमेर से कैम्प लगाये गये है। कोटा में जिस तरह छात्रों द्वारा आत्महत्या के मामले सामने आ रहे है।.इसको देखते हुए आयोग से छात्रों को जागरुक करने के लिए कैम्प लगाया गया है।

 

इसी का परिणाम है कि कोटा में छात्रों ने फोन के माध्यम से काउंसलिग करते हुए अपनी समस्या रखी। वही अजमेर में एंटी ड्रग्स को रोकने के लिए 97 छात्र सामने आये और ड्रग्स ना लेते हुए औरों को भी ना लेने का प्रण लिया। चतुर्वेदी ने बताया 29-30 अप्रैल को कोटा सम्भार में पेटिंग बनाकर छात्रों को जागरुक किया जाएगा। वही आगामी दिनों में प्रदेश में 45 दिन का कैम्प लगाते हुए बाल उत्पीड़िन और प्रताड़ना पर अभियान चलाया जाएगा।

 

 

Rajasthan, Jaipur, Child Rights, National Commission, Drugs 

Recommendation