66 लाख के गबन के आरोपियों को भेजा रिमांड पर, किया था एसीबी ने गिरफ्तार

Published Date 2017/03/10 18:35, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर | जैसलमेर नगर परिषद में बिना विकास कार्य किये 66 लाख से अधिक रूपये के गबन के मामले में गिरफ्तार तीनो आरोपियों को शुक्रवार को दो दिन के रिमांड पर भेजने के आदेश दिए गए है। एसीबी की टीम ने अधिकारी लक्ष्मण पंवार, लिपिक अनिल शर्मा व ठेकेदार अमृतलाल को गुरुवार को जैसलमेर से गिरफ्तार किया था। आज एसीबी ने तीनो को एसीबी की विशेष अदालत में पेश किया।

 

जहां एसीबी के विशेष न्यायाधीश रामसुरेश प्रसाद ने तीनो को दो दिन के रिमांड पर भेजने के आदेश दिये है। लक्ष्मण पंवार वर्तमान में जेडीए डायरेक्टर इंजीनियरिंग के पद पर कार्यरत है। एसीबी की टीम दो दिन के रिमांड पर तीनो आरोपियों से पूछताछ करेगी।सडक का भौतिक सत्यापन करवाये बिना ही नगर परिषद के अधिकारी पंवार ने ठेकेदार को भुगतान करवा दिया था|

 

एसीबी एसपी अजयपाल लांबा ने बताया कि वर्ष 2013 में जैसलमेर एसीबी की ब्यूरो चौकी ने एक परिवाद दर्ज कर शिकायत का सत्यापन जैसलमेर नगर परिषद के तत्कालीन एईएन जयसिंह परिहार से करवाया था। एईएन की जांच रिपोर्ट में धक्का देने वाला खुलासा हुआ था। रिपोर्ट में बाड़मेर तिराहा से एसबीबीजे चौराहा तक की सड़क पर 45 लाख 25 हजार 287 रुपए से रि-कारपेट होना था।

 

वहीं गीता आश्रम कच्ची बस्ती में 21 लाख 47 हजार 54 रुपए से फर्श, फुटपाथ नाली का निर्माण किया जाना था, लेकिन दोनों काम हुए बिना ठेका फर्म सोना कंस्ट्रक्शन कंपनी को भुगतान कर दिया। इस मामले में 17 नवंबर 2014 में तत्कालीन आयुक्त रामकिशोर माहेश्वरी, एक्सईएन लक्ष्मण पंवार, एईएन राजकुमार सिंघल, जेईएन नीरज सोनी, बाबू मूलचंद अनिल शर्मा के अलावा ठेकेदार अमृतलाल बेलदार के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

 

अनुसंधान के दौरान तत्कालीन आयुक्त सहित सभी सात आरोपियों से स्पष्टीकरण लेने के बाद गवाहों के बयान लिए। रिकॉर्ड में हेराफेरी कर दस्तावेजों की कूटरचना फर्जीवाड़े के संबंध में आरोपियों के नमूना हस्तलेख एवं हस्ताक्षर परीक्षण के लिए जोधपुर स्थित एफएसएल भेजे गए थे। आरोप की पुष्टि होने पर  कल जैसलमेर से गिरफ्तार किया था. देर शाम सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जहा से उन्हें दो दिन के रिमांड पर भेज दिया

 

Jodhpur, Rajasthan, 66 lakhs embezzlement, ACB, Jaisalmer, Special chief justice

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------