Two years imprisonment and fine to abuse on caste

जातिसूचक गालियां निकालने पर दो-दो साल की कैद

Published Date-14-Dec-2016 05:41:55 PM,Updated Date-14-Dec-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर | अनुसूचित जाति-जनजाति मामलों की विशेष अदालत की न्यायाधीश मोहिता भटनागर ने घर के बाहर कचरा फेंकने और जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने के मामले में आंगणवा निवासी तीन आरोपियों को दो-दो साल की सजा और जुर्माने से दण्डित करने के आदेश दिए हैं। परिवादिया बलूदेवी जाति भील ने मण्डोर पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें अनुसंधान के बाद पुलिस ने न्यायालय में आरोप-पत्र पेश किया।

 

अभियोजन पक्ष की ओर से लोक अभियोजक हुकमसिंह गहलोत ने अदालत को बताया कि आरोपियों ने परिवादिया बलूदेवी और उसकी भतीजी को जातिसूचक गालियां निकाली। इसलिए ऐसे आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद न्यायाधीश मोहिता भटनागर ने एक ही परिवार तीनों आरोपियों ओमप्रकाश, शिशुपाल व बाबूदेवी को दो-दो वर्ष की कैद और कुल 28 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित करने का आदेश दिया।

 

Jodhpur, Abuse, Extracting, Two year prison, Caste, Fine, Imprisonment

Click below to see slide

Recommendation