After the ban on illegal transactions of millions in Jodhpur

नोटबंदी के इतने दिनों बाद भी करोड़ो का अवैध लेनदेन जारी

Published Date-13-Apr-2017 04:25:41 PM,Updated Date-13-Apr-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर | प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से देश का काला धन सामने लाने के लिए की गई नोटबंदी की मुहिम को ढेंगा दिखाते हुए कई धनाड्य सेठों ने बैंक अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर करोडों रूपयोें के काले धन को व्हाईट करने का प्रयास किया लेकिन अब इनकम टैक्स अधिकारियों की सख्ती के चलते इन धन्ना सेठों की कारगुजारिया सामने आ रही है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है| जोधपुर में जहां एक डायमंड व्यापारी नें अपने चालक के खाते में नोटबंदी के दौरान करीब 49 लाख रूपए जमा करा दिए जिसकों लेकर चालक ने अपने ही मालिक के विरुद्ध सरदारपुरा थाने मे एक मामला दर्ज करवाया है।

 


जोधपुर के सरदारपुरा थाने में चालक नरपतसिंह नें एक मामला दर्ज कराते हुए सभी को चौका दिया है। नरपतसिंह ने अपने मालिक डाइमंड व्यवसायी आदित्य लोढा के विरुद्ध सरदारपुरा थाने मे एक रिपोर्ट दी है कि सरदारपुरा स्थित पीएनबी बैंक मे उसका खाता है और इस खाते से पिछले एक वर्ष में उसके मालिक लोढा नें करीब 20 करोड रूपयों का लेनदेन किया है जबकि उसने आज तक न तो किसी जमा पर्ची पर हस्ताक्षर किए ओर न ही विड्रोल पर्ची पर। ऐसे में एक वर्ष तक इनता बडा लेनदेने बैंक अधिकािरयों की मिलीभगत के बिना नही हो सकता।

 


सरदारपुरा थानाधिकारी भुपेन्द्रसिंह ने बताया कि व्यापारी नें नोट बंदी के दौरान नरवतसिंह के खाते मे 49 लाख रूपए जमा करा दिए जिसकी जानकारी नरपतसिंह को जब लगी जब इनकम टैक्स का नोटिस उसे मिला। नरपत सिंह ने थाने मे रिपोर्ट दी कि उसे इस बात की जानकारी नही थी कि उसके खाते मे इनती बडी राशि जमा कराई है। फिलहाल नरपतसिंह ने सरदारपुरा थाने मे रिपोर्ट में एक रिपोर्ट दी है जिसके बाद पुलिस ने आदित्य लोढा के विरुद्ध मामला दर्ज किया है और अब जांच शुरू की है| वही इनकम टैक्स के अधिकारी भी अपने स्तर पर जांच करने मे जुटे है। वही बैंक के अधिकारियों ने इस संबंध में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया|

 


Jodhpur, Rajasthan, Note ban, Illegal transactions, Demonetization, Narapat singh, Crore

Recommendation