During raid in Jodhpur jail found many objectionable items

जोधपुर जेल में आकस्मिक दबिश के दौरान कैदियों के पास मिली मोबाइल और सिम समेत कई आपत्तिजनक चीजें

Published Date-24-Mar-2017 08:11:29 PM,Updated Date-24-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। जोधपुर जेल हर बार की तरह इस बार भी सुर्खियों में है। जेल में जैमर लगे होने के बावजूद मोबाइल का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है। हर बार चौकिंग के बावजूद कुछ न कुछ पुलिस के हाथ लगता ही है। इस बार यह जेल फायरिंग प्रकरण को लेकर सुर्खियों में होने का संदेह पैदा कर रही है। इस जेल के तार संभवत पंजाब की फरीदकोट से हो सकते हैं। कैदियों के पास मिल रहे मोबाइल व सिमें इस बात का साफ इशारा कर रहे हैं कि जेलों से अपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है।


सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें जेलों के कर्मचारियों की मिलीभगत से यह हो रहा है। वरना जेल में मोबाइल कहां पहुंच रहे हैं, यह प्रश्न खड़ा हो रहा है। जोधपुर में 17 मार्च की सुबह प्रेक्षा अस्पताल के सामने समन्वय नगर में रहने वाले चिकित्सक सुनील चांडक और पत्रकार कालोनी न्यू पावर हाऊस में रहने वाले ट्रेवल एजेंसी संचालक मनीष जैन के घर के बाहर कारों पर हुई फायरिंग और आग लगाने की घटनाओं ने पुलिस की नींद उड़ा दी। साथ ही शहरवासियों में भी दहशत का माहौल बना डाला।


पुलिस की टीमों ने आज जोधपुर सेन्ट्रल जेल मे आकस्मिक दबिश दी और कैदियों की बैरक में घुसे पुलिसकर्मियों को वहां से 14 मोबाइल, 24 सिमें, 8 बैटरी, 9 चार्जर और अफीम मिली। एडीसीपी श्रीमन मीणा ने बताया कि पुलिस ने जेल से जब्त किए मोबाइल व सिम को जांच के लिए अपने पास रख लिया है। इनकी कॉल डिटेल से पता लगाया जा रहा है कि इनका उपयोग किन किन लोगों से किया गया। फिलहाल पुलिस इसकी पड़ताल गहनता से कर रही है।

 

Jodhpur, Rajasthan, Jail, Mobile, Sim Cards, Rajasthan News

Recommendation