जोधपुर जेल में आकस्मिक दबिश के दौरान कैदियों के पास मिली मोबाइल और सिम समेत कई आपत्तिजनक चीजें

Published Date 2017/03/24 20:11, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। जोधपुर जेल हर बार की तरह इस बार भी सुर्खियों में है। जेल में जैमर लगे होने के बावजूद मोबाइल का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है। हर बार चौकिंग के बावजूद कुछ न कुछ पुलिस के हाथ लगता ही है। इस बार यह जेल फायरिंग प्रकरण को लेकर सुर्खियों में होने का संदेह पैदा कर रही है। इस जेल के तार संभवत पंजाब की फरीदकोट से हो सकते हैं। कैदियों के पास मिल रहे मोबाइल व सिमें इस बात का साफ इशारा कर रहे हैं कि जेलों से अपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है।


सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें जेलों के कर्मचारियों की मिलीभगत से यह हो रहा है। वरना जेल में मोबाइल कहां पहुंच रहे हैं, यह प्रश्न खड़ा हो रहा है। जोधपुर में 17 मार्च की सुबह प्रेक्षा अस्पताल के सामने समन्वय नगर में रहने वाले चिकित्सक सुनील चांडक और पत्रकार कालोनी न्यू पावर हाऊस में रहने वाले ट्रेवल एजेंसी संचालक मनीष जैन के घर के बाहर कारों पर हुई फायरिंग और आग लगाने की घटनाओं ने पुलिस की नींद उड़ा दी। साथ ही शहरवासियों में भी दहशत का माहौल बना डाला।


पुलिस की टीमों ने आज जोधपुर सेन्ट्रल जेल मे आकस्मिक दबिश दी और कैदियों की बैरक में घुसे पुलिसकर्मियों को वहां से 14 मोबाइल, 24 सिमें, 8 बैटरी, 9 चार्जर और अफीम मिली। एडीसीपी श्रीमन मीणा ने बताया कि पुलिस ने जेल से जब्त किए मोबाइल व सिम को जांच के लिए अपने पास रख लिया है। इनकी कॉल डिटेल से पता लगाया जा रहा है कि इनका उपयोग किन किन लोगों से किया गया। फिलहाल पुलिस इसकी पड़ताल गहनता से कर रही है।

 

Jodhpur, Rajasthan, Jail, Mobile, Sim Cards, Rajasthan News

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------