Politics should not be bought and sold on the value of money says tiwari

पैसे के मोल पर खरीदी बेची जाने वाली राजनीति नहीं चाहिए : तिवाड़ी

Published Date-08-Jan-2017 09:07:54 PM,Updated Date-08-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

कोटा। दीनदयाल वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी किसी जाति-जनजाति, सेठ-साहूकार, महाजन-पंडित या किसी राजा महाराजा की जागीर नहीं है, यह पार्टी 90 साल के एक राष्ट्रीय आंदोलन का फल और कार्यकर्ताओं के खून पसीने से बनी पार्टी है। वरिष्ठ नेता ने हाड़ौती के कार्यकर्ताओं की हो रही उपेक्षा को लेकर कहा कि जिस कोटा के कार्यकर्ताओं ने राजस्थान भर में झंडा लहराया था, आज उन जमीनी कार्यकर्ताओं की ऐसी गत पीड़ा देती है।


तिवाड़ी ने प्रदेश सरकार पर कार्यकर्ताओं की उपेक्षा और राजस्थानी स्वाभीमान को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा केवल कोटा के साथ नहीं है, राजस्थान कला बोर्ड में 11 सदस्यों में से एक भी राजस्थान का नहीं। वहीं नदियों के लिये आयोग बनाया तो उसमें भी बाहरी व्यक्ति को स्थान दिया। तिवाड़ी अपने दो दिवसीय हाड़ौती में लोकसंपर्क अभियान के तहत कोटा के टीलेश्वर महादेव में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। तिवाड़ी ने प्रदेश सरकार में मंत्रियों की हालत पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मंत्रियों के उपर सुपर कैबिनेट बना रखी है। इस दौरान उन्होंने इशारों इशारों में उनकी हालत पर चुटकी लेते हुए कहा कि प्रदेश के मंत्री तन्मय से मिलकर ही मनमय हो जाते हैं, सारा राज तन्मय तक केंद्रीत हो गया है। 


तिवाड़ी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस प्रकार के काम किये जो हमारी पार्टी की व्यवस्था के खिलाफ है। हम गौ रक्षा की बात करते हैं और 27 हजार गायें जयपुर की हिंगौनिया गौशाला में सरकार की नाक के नीचे मर गई। हमने संघर्ष किया, तब कहीं जाकर सरकार ने कार्यवाही की, मगर तब भी सरकार कुछ नहीं कर पाई तो गौशाला ही अक्षय पात्र को संभला दी। वहीं जयपुर में 200 मंदिरों का तोड़ा गया, झालावाड़ की स्थिति आपने भी देखी है।


तिवाड़ी पर सवाल उठाने वालों को जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि तिवाड़ी वो कर रहा है जो पिछले 50 सालों में स्व. भैरोंसिंह और दिग्गजों से जो उसने सीखा है। उन्होंने कहा कि हमें पैसे के मोल पर खरीदी बेची जाने वाली राजनीति नहीं चाहिए। उन्होंने एक शेर का जिक्र करते हुए कहा कि जब तारिफ हो रही थी गजरे के फूलों की तो खामोश बैठे रहे, और जब जख्मे जिगर हमने दिखाया तो बुरा मान गये। इस दौरान उन्होंने कहा कि दीनदयाल जी ने कहा था जिस दिन जनसंघ में भ्रष्टाचार आ जायेगा मैं उसे समाप्त कर दूंगा।

 

Bundi Kota Jaipur Rajasthan BJP Ghanshyam Tiwari Deen Dayal Vahini

Click below to see slide

Recommendation