kota me students ke suicide ghate ncrb ka ankra jari

कोटा में स्टूडेंटस के सुसाइड घटे, एनसीआरबी का आंकड़ा जारी

Published Date-10-Jan-2017 05:39:05 PM,Updated Date-10-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

कोटा| स्टूडेंट को तनाव से उबारने के प्रयास अब धीरे धीरे रंग लाने लगे हैं। एनसीआरबी ने हाल ही में देश के 10 लाख से अधिक आबादी वाली शहरों में होने वाली दुर्घटनाओं और सुसाइड के आंकडे जारी किए हैं। इस बार सभी की नजरें कोटा में होने वाले अप्रिय हादसों पर थी। कोटा में स्टूडेंट सुसाइड रेट काफी कम आई है। 

 

साल 2014 में एग्जाम में फेल होने के डर से 45 विद्यार्थियों ने आत्महत्या की थी, यह संख्या अब गिरकर 17 पर आ गई है। हालांकि संख्या को शून्य पर लाने के लिये अभी कई प्रयास किये जाने बाकी है। यह आंकड़े यूनिवर्सिटी, स्कूल, काॅलेज और कोचिंग के स्टूडेंटस के हैं। स्टूडेंट्स के सुसाइड आंकडों के मामलों में अब कोटा देश के उन पांच शहरों से बाहर हो गया है, जिसमें पिछले कुछ सालों से तीसरे और पांचवें स्थान पर आता था।

 

KotaKota News, Suicide CasesKota Police, NCRB

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation