कोटा में जेके लोन अस्पताल के कम्पाउंडर के घर से दवाइयों का बड़ा जखीरा बरामद

Published Date 2017/03/29 14:42, Written by- FirstIndia Correspondent

कोटा। कोटा में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां सरकारी अस्पताल जेके लोन में कार्यरत एक कंपाउंडर के घर से दवाइयों का बड़ा जखीरा बरामद किया गया है। ड्रग डिपार्टमेंट की एक टीम द्वारा कंपाउंडर के घर पर छापा मारने के बाद तकरीबन 8 लाख रुपए की लागत की यह दवाइयां बरामद हुई है। आरोपी कम्पाउंडर हरकचंद रेनवाल के पास न तो इन दवाइयों का लाइसेंस है और न ही खरीद और बेचान के बिल।


दवाइयों के जखीरे में बड़ी मात्रा में सैंपल मेडिसिन भी है। कंपाउंडर को शिकंजे में फंसाने के लिए ड्रग डिपार्टमेंट की टीम ने उसे ग्राहक बनकर फोन किया था और बाद में रेनवाल ने फोन पर सौदा तय करके 10 इंजेक्शन लेने के लिए टीम को सुभाष नगर स्थित अपने घर बुला लिया था। फिलहाल डिपार्टमेंट को आशंका है कि जब्त दवाइयों में एक तादाद नकली दवाइयों की भी हो सकती है, जो रेनवाल झोलाछाप डॉक्टरों को सप्लाई करता था।


उधर, कंपाउंडर हरकचंद के घर पर मिली दवाईयों की खेप के मामले में अब जेके लोन अस्पताल प्रशासन ने भी ड्रग कंट्रोल विभाग से रिपोर्ट मांगी है। कंपाउंडर के घर पर मिली 8 लाख की दवाईयों का न तो कोई बिल है ना ही कोई लाईसेंस। गुपचुप तरीके से घर से ही दवा का कारोबार कर रहे कंपाउंडर पर अब ड्रग कंट्रोल विभाग के अलावा अस्पताल प्रशासन भी इस पर जांच करेगा। हालांकि अस्पताल प्रशासन का कहना है कि उन्हें मीडिया से इस पूरे प्रकरण का पता चला है। ड्रग विभाग से इस मामले की पूरी रिपोर्ट लेकर आरोपी कम्पाउंडर के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

 

Kota Rajasthan Government Hospital JK Lon Hospital Kota Compounder Medicine Drug Control Department

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------