इंसान को सुविधाओं का गुलाम नहीं होना चाहिए : आसाराम

Published Date 2017/05/19 21:25, Written by- FirstIndia Correspondent

जोधपुर। अपने ही आश्रम की नाबालिग के साथ यौन दुराचार के आरोप में फंसे आसाराम ने कोर्ट से बाहर आते हुए मीडिया के एक सवाल के जवाब कहा कि पूरे देश में हमारे आश्रमों में ग्रीष्मकालीन शिविर चल रहे हैं। जैसे भगवान श्री राम और उनके भाई सुख सुविधाएं छोड़कर गुरुकुल में शिक्षा ग्रहण कर के मजबूत हुए और श्री कृष्ण व बड़े बड़े राजकुमारों ने शिविरों में शिक्षा ली, उन्हीं उद्देश्यों से ये शिविर आयोजित किये जाते हैं। मेरा उदेश्य यह है कि सुविधाओं के बिना भी रहना चाहिए इंसान को सुविधाओं का गुलाम नहीं होना चाहिए, सुविधाएं हमेशा मौजूद नहीं रहती है। 


आसाराम की आज दो अदालतों में सुनवाई थी, इस कारण उन्हें आज दो कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस ने पहले एसीजेएम संख्या तीन में आसाराम को पेश किया, यहां एक मुकदमा पुलिस को बदनाम करने के मामले चल रहा है। एसीजेएम संख्या तीन में सुनवाई नहीं हो पाई, क्योंकि एसीजेएम तीन के द्वारा जो चार्ज आरोपित किये गये हैं, उनके खिलाफ एडीजे संख्या छह में रिवीजन पेश की गई थी। ऐसे में रिवीजन पर सुनवाई नहीं हो, तब तक सुनवाई नहीं हो पायेगी। ऐसे में अब सुनवाई दो जून को होगी।


वहीं अनुसूचित जाति जनजाति अदालत में आज भी दस्तावेज नहीं आने से सुनवाई अधूरी रही। इस दौरान समर्थकों को जमावड़ा लगा रहा। पुलिस समर्थकों से कुछ परेशान भी नजर आई। वहीं आसाराम की महिला समर्थकों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि जो पुलिस लाईन से पुलिसकर्मी आते हैं, उनका महिलाओं के प्रति व्यवहार अच्छा नहीं रहता है, जिसकी वो उच्च अधिकारियों से शिकायत करेंगी और जरूरत पड़ी तो महिला आयोग तक भी जाएगी।

 

Jodhpur Rajasthan Asaram Jodhpur Jail Jodhpur News Rajasthan News

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------