gang created who swindle people on the name of loan

नगर निगम का फर्जी नक्शा तैयार कर लोन के नाम पर ठगने वाला गिरोह पकड़ा

Published Date-19-May-2017 09:35:35 PM,Updated Date-19-May-2017, Written by- Priyank Sharma

अजमेर। अजमेर नगर निगम के अधिकारी की फर्जी सील और हस्ताक्षर से भूखंड का नक्शा तैयार करने और लोगों को बैंकों से लोन दिलवाने की एवज में चांदी कूटने वाला गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 9 मई को निगम के उपयुक्त गजेन्द्र सिंह रलावता ने कोतवाली थाने में नामजद मुकदमा दर्ज करवाया था। दरअसल, एक भूखंड की जांच में रलावता ने यह मामला पकड़ा था।


रलावता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करके पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक आरोपी शील रत्न यादव निगम का रजिस्टर्ड आर्टिटेक्ट है, जबकि एक प्रोपर्टी व्यवसायी कमल भारद्वाज और उसका गुर्गा नवीन सक्सेना है। आरोपी कमल भारद्वाज के दफ्तर से पुलिस को नगर निगम की 50 फर्जी सिले भी मिली है।


पुलिस की मानें तो यह लोग फर्जी तरीके से नक्शा तैयार कर फर्जी सील और हस्ताक्षर करके लोगों को फांसकर उन्हें बैंक से लोन दिलाते और लोगों से इसकी एवज में मोटी रकम ऐंठते थे। इस गिरोह के साथ बैंककर्मियो की लिप्तता की भी जांच पुलिस कर रही है।

 

Ajmer Rajasthan Ajmer Nagar Nigam Swindle Arrest Crime News Rajasthan News

Recommendation