अब बायोमेट्रिक पद्धति से होगी छात्राओं की निगरानी, महारानी कॉलेज के हॉस्टल से होगी पहल

Published Date 2017/04/21 20:10, Written by- Bharat Dixit

जयपुर। महारानी कॉलेज प्रशासन अब छात्राओं की सुरक्षा के लिए हर वो कदम उठाने को तैयार है, जिससे उसकी छवि पर दाग न लग सकें। बीते माह महारानी एनीबिसेंट हॉस्टल में छात्रा कोमल की सुसाइड के बाद कॉलेज प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाए गए, जिससे हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं के परिजनों को खासा चिंता सताने लगी, मगर अब जल्दी ही महारानी कॉलेज के दोनों हॉस्टलों में बायोमेट्रिक मशीन के जरिए छात्राओं की निगरानी रखी जा सकेंगी।


गौरतलब है कि पिछले महीने महारानी कॉलेज के एनीबीसेंट हॉस्टल के कमरा नम्बर 208 मेें बीए फर्स्ट ईयर की स्टूडेट्स कोमल प्रजापति ने पंखे से फंदा लगाकर अपनी जान दे दी थी। छात्रा की सुसाइड के बाद कॉलेज प्रशासन पर परिजनों ने कई गंभीर आरोप लगाए, जिनमें देर रात छात्राओं को बाहर भेजने जैसा संगीन आरोप भी था। आरोपों के बाद हॉस्टल में रहने वाली अन्य छात्राओं के परिजनों को भी खासी चिंताए सताने लगी, मगर अब हॉस्टल में रहने वाली हर एक छात्रा की एंट्री बायोमैट्रिक मशीन के जरिए ही होगी।


छात्रा हॉस्टल को हॉस्टल से बाहर निकलने के लिए मशीन में पंच करना होगा, उसके बाद जब भी छात्रा हॉस्टल में अदर प्रवेश लेगी, तब भी मशीन को पंच करना होगा। इससे यह पता चल जाएगा कि छात्रा कितनी देर बाहर रही महीने में कितनी देर बाहर रही। इसकी मासिक रिपोर्ट प्रिंसिपल के पास पहुंचेगी।


बहरहाल ऐसे में, बॉयोमैट्रिक मशीन से छात्राओं एंट्री और एग्जिट से ये तस्वीर साफ हो पाएगी कि कौनसी छात्रा कितने बजे बाहर गई और कितने बजे तक अंदर आई। यही नहीं, बॉयोमेट्रिक मशीन के साथ-साथ कॉलेज प्रशासन ने छात्राओं की सुरक्षा को देखते हुए हॉस्टल के अंदर लगभग 34 कैमरे भी लगवाए हैं, जिससे छात्राओं की निगरानी अच्छी तरह से की जा सकें। महारानी कॉलेज की प्रिंसिपल अल्पना केटजा ने बताया कि कॉलेज प्रशासन के लिए छात्राओं की सुरक्षा सबसे अहम मुद्दा है। बॉयोमेट्रिक मशीन मात्र एक सिस्टम है, जिससे ये पता लागाया जा सकेगा कि कौन कहां और कितने बजे जा रहा है।

 

Jaipur Rajasthan Maharani Collage Biometric Method Surveillance Hostels Rajasthan News

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------