...तो क्या संगीन मामलों से बेखबर है पुलिस और इंटेलिजेंस?

Published Date 2017/03/17 22:53, Written by- Ramswaroop Lamror

जयपुर। पुलिस और इंटेलीजेंस भले कितने ही दावा करे कि शहर की हर गतिविधि पर उनकी नजर रहती है, लेकिन हकीकत यह है कि कई संगीन मामलों में पुलिस को कानोकान खबर तक नहीं होती है। पिछले वर्ष गैंगस्टर आनन्दपाल सिंह ने लम्बे समय तक जयपुर शहर में फरारी काटी थी, तब भी पुलिस कानोकान खबर नहीं थी और गुरुवार रात को शहर के एक फाइव स्टार होटल में करोड़ों के सट्टे का लेनदेन हो रहा था। इसका भी पुलिस को पता नहीं चला।


यूपी, गुड़गांव, दिल्ली और हरियाणा के सट्टेबाजों में लेन देन के दौरान जब झगड़ा हुआ तो मामला पुलिस की जानकारी में आया। देर रात को जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने करीब डेढ़ दर्जन सट्टेबाजों और बुकियों को गिरफ्तार किया। इन सट्टेबाजों के पास हिसाब किताब के दस्तावेज मिले हैं। झगड़े की सूचना पर पुलिस होटल मैरियट से इन्हें गिरफ्तार करके थाने लाई। हाई प्रोफाइल परिवारों से ताल्लुक रखने वाले इन सट्टेबाजों बाजों की थाने में अच्छी तरह से खातिरदारी भी हुई। जवाहर सर्किल थाने में कोल्ड ड्रिंक्स और ब्रेक फास्ट की व्यवस्था की गई।


सब इंस्पेक्टर मुन्शीराम ने बताया कि यूपी चुनाव के दौरान करोड़ों का सट्टा लगाने वाले सट्टेबाजों और बुकीज के बीच रुपए के लेन—देन को लेकर विवाद हो गया था। इसी विवाद को निबटाने के लिए जयपुर के एक बिचौलिये ने होटल मैरियट में बीस कमरे बुक करवाए थे। दोनों गुटों में लेन देन के हिसाब के दौरान ही झगड़ा हो गया और मामला पुलिस तक पहुंच गया। पुलिस ने शांतिभंग के आरोप में डेढ़ दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

Jaipur, Rajasthan, Police, Intelligence, Speculative, Gambling, Crime News, Marriot Hotel Jaipur

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------