police busted an interstate gang who carried out crime of robbery 12656

लूट की वारदात को अंजाम देने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

Published Date-30-Jun-2016 02:01:20 PM,Updated Date-30-Jun-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर। प्रतापगढ़ में एक महीने पहले एक फाईनेंस कंपनी के कर्मचारियों पर फायरिंग कर डेढ़ लाख रुपए से ज्यादा की लूट के मामले का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह के छह बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इस गिरोह की गिरफ्तारी से क्षेत्र में पिछले दिनों हुई लूट की अन्य कई वारदातों के खुलाने की भी संभावना है। गेंग में शामिल बदमाशों के खिलाफ मादक पदार्थों की तस्करी के साथ और भी आपाराधिक मामले दर्ज है।

 

जानकारी के मुताबिक, जिले में एस के एस फाईनेंस कंपनी के नाम से लोगों को लोन देने और उसकी रिकवरी करने वाले कंपनी के मेनेजर विमलेश कुमार ने धोलापानी पुलिस थाने में एक महीने पहले मामला दर्ज कराया था। उसके अनुसार छब्बीस जून की शाम वह अपने एक कर्मचारी के साथ मोवाई चित्रावेली मार्ग पर बाईक से जा रहे थे। उनके पास नकदी से भरा बेग था, जिसमे लोगों से उगाही करके लाए गए 1 लाख 65 हजार रुपए थे।

 

इसी दौरान सुनसान रास्ते में कुछ अज्ञात लोगों ने बाईक को रोककर बेग छिनने का प्रयास किया, जिसका विरोध करने पर उन्होंने पिस्टल से फायर कर दिया। इसमें वो बाल—बाल बच गए, लेकिन संख्या में ज्यादा होने और हथियारों से लेस होने के कारण लुटेरे नकदी से भरा लेकर भागने में कामयाब रहे।

 

उक्त घटना की गम्भीरता को देखते हुए प्रतापगढ़ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल स्वरूप मेवाड़ा के नेतृत्व में पुलिस की एक विशेष टीम गठित की गई। तकनीकी व गोपनीय जानकारी का विशलेषण किया गया तो एक स्थानीय व्यक्ति मांगीलाल मीणा मानपुरा खालसा थाना धोलापानी संदिग्ध पाया गया, जिसे गिरफ्तार कर पुलिस द्वारा गहन पूछताछ की गई।

 

पूछताछ में उसने उक्त घटना के बारे में बताया कि इस घटना को अंजाम देने में नेपाल सिंह मास्टर माइन्ड गेंग का लीडर है, जो एक वर्ष पहले धोलापानी गांव में शराब के ठेके पर कार्य करता था। वह इस क्षेत्र से वाकिब था, जिसने क्षेत्र में रैकी करके मालूम कर लिया था कि इस क्षेत्र में कम्पनी के व्यक्ति हर गुरूवार को लोन की किश्तें जमा कर रुपए ले जाते हैं। इस पर नेपालसिंह ने अपने अन्य साथियों से सम्पर्क कर गुरूवार को कम्पनी के लोगों को लूटने की योजना बनाई और जंगल के सुनसान रास्ते को लूट के लिए चुन उन्हें लुट लिया।

 

गौरतलब है कि लूट में नेपाल सिंह के साथ जिले के ही रहने वाले अपराधी मुन्नालाल मीणा, दिलीप मीणा के साथ मध्य प्रदेश के भावगढ़ थाना क्षेत्र के सुरजमल ढोली, सुरेश मीणा शामिल थे। नेपालसिंह व उसके साथी अन्तराज्यीय गिरोह के सदस्य हैं, जो नशीले पदार्थों की तस्करी में भी लिप्त है तथा ये सभी लोग दिनदहाड़े हथियार बंद होकर लूट करते हैं।

 

Udaipur, Pratapgarh, Crime, Robbery, Interstate Gang

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation