question and answer program with her voters

भावी मतदाताओं के साथ हुआ सवाल-जवाब कार्यक्रम

Published Date-12-Jan-2017 01:42:46 PM,Updated Date-12-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

झुंझुनूं। अब ना तो चुनाव है और ना ही सरकार का कोई नया फरमान आया है। फिर भी चर्चा सामने आ ही गई। चर्चा यह कि विधायक और सांसदों की भी नगरपालिका पार्षद, पंचायतराज जनप्रतिनिधि और कृषि मंडी के प्रतिनिधियों की तरह शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य हो। 

 

दरअसल यह चर्चा जब सामने आई जब गुरूवार को झुंझुनूं के मल्टीपरपज स्कूल में राज्य चुनाव आयोग के निर्देश पर भावी मतदाताओं से निर्वाचन संबंधी सवाल जवाब कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान कुल 50 प्रश्न विद्यार्थियों से पूछे गए। लेकिन अधिकतर का विद्यार्थियों ने आसानी से जवाब देकर इसलिए अचंभित कर दिया कि वे सभी जानकारियां रखते हैं। लेकिन एक सवाल ऐसा भी था, जिस पर विद्यार्थी ना केवल अटके, बल्कि जवाब गलत ही दिए। इस प्रश्न माला में 33वें नंबर पर सवाल था कि विधायक एवं सांसद के लिए शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य है क्या? जिस पर अधिकतर विद्यार्थियों ने इनके लिए शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य बताया और आठ व 10वीं पास होना भी बताया।

 

लेकिन जब एडीएम एमआर बगडिय़ा ने सभी सवालों को गलत बताते हुए जानकारी दी कि ऐसी कोई भी योग्यता लागू नहीं हैं। जब सभी हताश हुए। लेकिन सवाल यह है कि आने वाली पीढ़ी भी यदि यही पढ़ेगी कि उनका विधायक सांसद अनपढ़ भी बन सकता है तो कैसा संदेश जाएगा? बहरहाल, आज हुए कार्यक्रम में विद्यार्थियों को अपने मतदाता बनने से लेकर चुनाव में वोट डालने तक की आवश्यक जानकारियां भरपूर थी। जिससे यह तय है कि हरेक को अपने अधिकारों का ज्ञान है। सभी सही जवाब देने वालों को पुरस्कृत किया गया। यह कार्यक्रम 25 जनवरी को मतदाता दिवस कार्यक्रमों की शृंखला में आज पूरे प्रदेश में हर विधानसभा स्तर पर हो रहा है। 

 

Jhunjhunu, Rajasthan, Election, MP, MLA 

Recommendation