EC asks to Akhilesh and Mulayam Singh Yadav to prove strength

EC ने अखिलेश और मुलायम गुट के MP-MLA के समर्थन का मांगा हलफनामा

Published Date-05-Jan-2017 10:50:35 AM,Updated Date-05-Jan-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

मुलायम सिंह यादव ने अपने प्रतिनिधि अमर सिंह से चुनाव आयोग को लिखित ज्ञापन भिजवाया है| इस ज्ञापन में 1 जनवरी को रामगोपाल यादव द्वारा बुलाए गये राष्ट्रीय अधिवेशन के असंवैधानिक होने के प्रमाण दिये है| दूसरी ओर सीएम अखिलेश यादव ने गुरुवार सुबह अपने घर 5 कालिदास मार्ग पर विधायकों की बैठक बुलाई है| चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी के दोनों खेमे यानि अखिलेश गुट और मुलायम गुट दोनों को हलफनामा देकर ये बताने को कहा है कि उन्हें कितने विधायक, कितने एमएलसी और कितने एमपी का समर्थन हासिल है|

 

चुनाव आयोग ने दोनों से 9 जनवरी तक जवाब मांगा है| दोनों गुटों को एक दसूरे के वो दस्तावेज भी भेजे गए हैं जो उन्होंने चुनाव आयोग को दिए थे| चुनाव के एलान के बाद अखिलेश ने कहा- हम दोबारा लौटेंगे, कहां बोल्ट लगाना है और कहां हथौड़ा इस्तेमाल करना है, सब सही से करेंगे| मुलायम को एक और झटका मिला है| अखिलेश गुट ने ज्यादातर जगहों पर नए जिला अध्यक्ष बनाए|

 

चुवान आयोग को दिए ज्ञापन में कहा है रामगोपाल राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा लिखित तौर पर निष्कासित किये जा चुके थे| जबकि पार्टी में उनकी वापसी की खबर अफवाह थी| पार्टी के 40 फीसदी सदस्यों की मर्जी से अधिवेशन बुलाने का हक केवल राष्ट्रीय अध्यक्ष को ही है| इसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष को किसी को भी निकालने का पूरा हक है|

 

यूपी समेत पांचों राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है, लेकिन यूपी में सत्तारूढ़ पार्टी सपा में चल रहा दंगल थमने का नाम नहीं ले रहा है| मुलायम सिंह यादव और उनके बेट अखिलेश यादव में सपा के चुनाव चिह्न ‘साइकिल’ पर घमासान जारी है| इसी बीच चुनाव आयोग ने अखिलेश गुट और मुलायम गुट दोनों को हलफनामा देकर अपनी ताकत साबित करने को कहा है|

 

 Akhilesh yadav, Mulayam singh yadav, Samajwadi party, UP, Election commission, Petition

Recommendation