Maha Shivaratri pooja vidhi and facts and secret about mahashivratri vrat

जानिए महाशिवरात्रि पर्व पर शिव की पूजा का विधि-विधान, साथ ही जाने कैसे करें भगवान शिव को प्रसन्न

Published Date-24-Feb-2017 02:30:21 PM,Updated Date-24-Feb-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

भारत देश त्यौहारों और पर्वों का देश है, यहां कई त्यौहार और पर्व धूमधाम से मनाए जाते है इन्हीं पर्वों में से एक है 'महाशिवरात्रि' का पर्व| यह पर्व दुनियाभर में भगवान शिव और माता पार्वती की शादी की सालगिरह के तौर पर मनाया जाता है| इस त्योहार में सभी लोग अपनी मनोकामनाओं, इच्छाओं की सफलता के लिए शिव की पूजा व व्रत करते है| इस पूजा में  भगवान शिव को दूध, फल-फूल, भांग, धतूरा और मिठाई का भोग लगाया जाता है, साथ ही उनसे सुख-समृद्धि की कामना की जाती है | कुंवारी लडकिया यह व्रत अच्छे जीवन साथी की प्राप्ति के लिए करती है| बता दें कि इस पूजा व व्रत का धार्मिक महत्व है| इस पर्व की पूजा विधि भी अपने आप में खास है साथ ही इस पूजा में कुछ सावधानियां भी रखनी चाहिए| 

 

इस पर्व में पूजा के समय भगवान शिव का पूजन करने के लिए साफ आसन पर ही बैठें। पूजा की सभी वस्तुओं को सही स्थान पर रखें। इसके बाद स्वस्ति पाठ करें। इसके बाद भगवान भोलेनाथ और मां पार्वती को याद करते हुए संकल्प लेकर पूजा करें। पूजा के बाद हाथ में बेलपत्र और अक्षत (चावल) लेकर भगवान शिव का ध्यान करें। इसके बाद शिवलिंग को दही, घी, शहद और चीनी से स्नान कराएं। फिस सुगंध स्नान के लिए इत्र का प्रयोग करें।

 

आखिर में शुद्ध स्नान (पानी) कराए| अब शिवलिंग को साफ कपड़े से पोंछकर वस्त्र चढ़ाएं। फिर जनेऊ चढ़ाएं। इसके बाद इत्र, अक्षत, फूलमाला और बेलपत्र अर्पित करें। भगवान को अब साफ फल चढ़ाएं। इन सबके बाद आरती करें। आखिर में क्षमा याचना करते हुए भोलेनाथ से पूजा के दौरान जाने-अनजाने में हुई गलती के लिए माफी मांगे। इस प्रकार आप महाशिवरात्रि का पर्व मना सकते है|

 

Mahashivaratri, Pooja, Temple, Shiva, Mahashivratri Vrat, Vidhi

Click below to see slide

Recommendation