Do you know why meena stoning during hajj yatra

हज़ यात्रा के दौरान क्यों मारा जाता है शैतान को पत्थर

Published Date-13-Sep-2016 01:15:36 PM,Updated Date-13-Sep-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

हज यात्रा के दौरान कई बार मीना में शैतान को पत्‍थर मारने की परंपरा के दौरान भगदड़ मचने की घटनाएं होती रही हैं। क्या आप जानते है ये पत्थर मारने के पीछे क्या राज है? इस्लाम‌िक व‌िषयों के जानकार के अनुसार यह परंपरा हजारों साल पहले शुरू हुई थी। ज‌िस प्रकार बकरीद में प्रतीकात्मक रूप में बकरे की कुर्बानी दी जाती है उसी तरह मीना में शैतान को पत्‍थर मारने की प्रत‌ीकात्मक परंपरा है।

 

इस परंपरा के पीछे हजरत इब्राह‌िम और उनके बेटे इस्माइल की कहानी है। हजरत इब्राह‌िम से जब अल्लाह ने उनके बेटे की कुर्बानी मांगी तो उन्होंने अपने बेटे को कुर्बान करने के फैसला क‌िया। शैतान उन्हें खुदा की राह से भटकाना चाहता था इसी‌ल‌िए कह रहा था क‌ि यह कैसा खुदा है जो तुमसे तुम्हारा बेटा मांग रहा है। ऐसे समय में हजरत इब्राह‌िम ने एक पत्‍थर उठाकर शैतान को मारकर भगा द‌िया। जहां पर हजरत साहब ने शैतान को पत्‍थर मारा था वहां एक स्तंभ है ज‌िसे शैतान मानकर आज भी उसी परंपरा को न‌िभाने के ल‌िए तीर्थयात्री पत्‍थर मारते हैं।

 


Hajj yatra Meena stoning Makka Madina Festival Spirituality

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation