Draupadi done chath pooja in Ranchi s village

द्रौपदी ने की थी छठ पूजा, ये रौचक कहानियां है प्रचलित

Published Date-03-Nov-2016 01:27:01 PM,Updated Date-03-Nov-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

यूपी में छठ महापर्व बड़े धूमधाम से मनाया जाता है और रांची में छठ पूजा का खास महत्व है| यहां के नगड़ी गांव में छठव्रती ना तो नदी और ना ही तालाब में अर्घ्य देते है बल्कि एक सोते के पास छठ पूजा होती है| दरअसल यहां मान्यता है कि इसी सोते के पास द्रौपदी सूर्योपासना किया करती थी और सूर्य को अर्घ्य भी दिया करती थी| ऐसा माना जाता है कि वनवास के दौरान पांडव झारखंड के इस इलाके में काफी दिनों तक ठहरे थे|

 

कहते हैं कि एक बार जब पांडवों को प्यास लगी और दूर-दूर तक पानी नहीं मिला तब द्रौपदी के कहने पर अर्जुन ने जमीन में तीर मारकर पानी निकाला था| मान्यता यह भी है कि इसी जल के सोते के पास द्रोपदी सूर्य को अर्घ्य देती थी| सूर्य की उपासना कि वजह से पांडवो पर हमेशा सूर्य का आशीर्वाद बना रहा| इसी मान्यता कि वजह से आज भी यहां छठ धूमधाम से मनाई जाती है| यहां से थोड़ी दूर पर हरही गांव है| मान्यता है कि यहां भीम का ससुराल था| भीम और हिडिम्बा के पुत्र घटोत्कच का जन्म भी यहीं हुआ था| एक दूसरी मान्यता के मुताबिक महाभारत में वर्णित एकचक्रा नगरी नाम ही अपभ्रंश होकर अब नगड़ी हो गया है|

 

Uttar pradesh, Ranchi, Chath pooja, Draupadi, Mahabharata, Historical, Stories

Click below to see slide

Recommendation