Ganpati immersion in Maharashtra amid tight security

महाराष्ट्र में कड़ी सुरक्षा के बीच धूमधाम के हुआ गणपति विसर्जन

Published Date-15-Sep-2016 01:35:54 PM,Updated Date-15-Sep-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

महाराष्ट्र के मुंबई सहित कई हिस्सों में गुरुवार को अनंत चतुर्दशी के मौके पर भगवान गणेश को अंतिम विदाई दी गई। भगवान गणेश की 'उत्तर पूजा' के बाद गणेश की हजारों की संख्या में बड़ी, मध्यम और छोटी मूर्तियों को विभिन्न घाटों पर विसर्जित किया जाएगा। मुंबई पुलिस, मुंबई नगर पालिका, नौसेना, भारतीय तटरक्षक और अन्य एजेंसियों ने गणेश भगवान के सुरक्षित विसर्जन के लिए विभिन्न इंतजाम किए हैं। विसर्जन के लिए प्राकृतिक एवं कृत्रिम जलाश बनाए गए हैं।

 

बीएमसी ने इस मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती, सीसीटीवी, मेटल डिटेक्टर, खोजी कुत्तों और अन्य सुरक्षा गैजेट के अलावा दमकलकर्मियों, गोताखोरों की तैनाती की है। नौसेना और आईसीजी विसर्जन प्रक्रिया की निगरानी करेंगे। हेलीकॉप्टर, स्पीडबोट, नौसेना पोतों को भी किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति के लिए तैयार रखा गया है। इस साल जेलीफिश और स्टिंगरे से बड़ा जोखिम है, इसलिए भक्तों को पानी में नंगे पैर नहीं जाने की सलाह दी गई है।

 

गणेशोत्सव के अंतिम दिन गुरुवार को गणेश की एक लाख से अधिक बड़ी और छोटी मूर्तियों को विसर्जित किया जाएगा। मुंबई और तटीय कोंकण क्षेत्र में गुरुवार सुबह से ही भारी बारिश हो रही है, जिससे विसर्जन प्रक्रिया मंद पड़ सकती है। गणेश की बड़ी मूर्तियों के विसर्जन के लिए लोकप्रिय विसर्जन घाटों में अरब सागर भी है। बीएमसी ने मूर्तियों के विसर्जन के लिए कृत्रिम जलाशय भी बनाए हैं।

 

Maharashtra Ganpati immersion Fanfare Security Mumbai Lord ganesha

Click below to see slide

Recommendation