जानिए क्या है वैद्यनाथ धाम की महिमा, क्यों कहा जाता है इसे रावणेश्वर धाम

Published Date 2016/10/26 18:18, Written by- FirstIndia Correspondent

बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक पवित्र वैद्यनाथ धाम मंदिर में ज्योतिर्लिंग की स्थापना हुई है| यह शिवलिंग झारखंड के देवघर में स्थित है| कहते हैं भोलेनाथ यहां आने वाले की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं| इसलिए इस शिवलिंग को 'कामना लिंग' भी कहते हैं और इस जगह को लोग बाबा बैजनाथ धाम के नाम से भी जानते हैं|

 

वैद्यनाथ धाम का इतिहास यह है कि एक बार राक्षसराज रावण ने हिमालय पर जाकर शिवजी की प्रसन्नता के लिये घोर तपस्या की और अपने सिर काट-काटकर शिवलिंग पर चढ़ाने शुरू कर दिये| एक-एक करके नौ सिर चढ़ाने के बाद दसवाँ सिर भी काटने को ही था कि शिवजी प्रसन्न होकर प्रकट हो गए|

 

फिर शिव जी ने उसके दसों सिर वैसे ही दुबारा कर दिये और बदले में वरदान मांगने को कहा| रावण ने लंका में जाकर उस लिंग को स्थापित करने के लिए उसे ले जाने की आज्ञा माँगी| शिवजी ने अनुमति तो दे दी, पर इस चेतावनी के साथ दी कि यदि मार्ग में इसे पृथ्वी पर रख देगा तो वह वहीं अचल हो जाएगा| इधर भगवान शिव की कैलाश छोड़ने की बात सुनते ही सभी देवता चिंतित हो गए| इस समस्या के समाधान के लिए सभी भगवान विष्णु के पास गए| तब श्री हरि ने लीला रची| भगवान विष्णु ने वरुण देव को आचमन के जरिए रावण के पेट में घुसने को कहा| रावण शिवलिंग ले कर चला पर मार्ग में एक चिताभूमि आने पर उसे लघुशंका निवृत्ति की आवश्यकता हुई|

 

ऐसे में रावण एक ग्वाले को शिवलिंग देकर लघुशंका करने चला गया| कहते हैं उस बैजू नाम के ग्वाले के रूप में भगवान विष्णु थे| इस वहज से भी यह तीर्थ स्थान बैजनाथ धाम और रावणेश्वर धाम दोनों नामों से विख्यात है| पौराणिक ग्रंथों के मुताबिक रावण कई घंटो तक लघुशंका करता रहा जो आज भी एक तालाब के रूप में देवघर में है| इधर बैजू ने शिवलिंग धरती पर रखकर को स्थापित कर दिया|

 

जब रावण लौट कर आया तो लाख कोशिश के बाद भी शिवलिंग को उठा नहीं पाया| तब उसे भी भगवान की यह लीला समझ में आ गई और वह क्रोधित शिवलिंग पर अपना अंगूठा गढ़ाकर चला गया| उसके बाद ब्रह्मा, विष्णु आदि देवताओं ने आकर उस शिवलिंग की पूजा की| शिवजी का दर्शन होते ही सभी देवी देवताओं ने शिवलिंग की उसी स्थान पर स्थापना कर दी और शिव-स्तुति करके वापस स्वर्ग को चले गए|

 

Baidyanath, Baijnath temple, Devghar, Glory, Jharkhand, Ravan, Lord shiva

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें


Most Related Stories


-------Advertisement--------


अमित शाह के जयपुर विजिट पर ओम विड़ला से खास बातचीत | Jaipur News

अमित शाह के जयपुर विजिट पर अरुण अग्रवाल से खास बातचीत | Jaipur News
अमित शाह के जयपुर विजिट पर अविनाश राय खन्ना से खास बातचीत | Jaipur News
अमित शाह के जयपुर आगमन पर राजकुमारी दिया द्वारा भव्य स्वागत | Jaipur News