Sailing on nakki lake has been closed

नक्की झील पर नौकायन बंद, सरकार को प्रतिदिन 1.20 लाख रुपए राजस्व का नुकसान

Published Date-01-Feb-2017 07:37:27 PM,Updated Date-01-Feb-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

माउंट आबू। प्रदेश की पर्यटन नगरी माउंट आबू जहां पर आने वाला पर्यटक अब मायूस होकर लौट रहा है। कारण है माउंट आबू पर स्थित नक्की झील, जहां पर प्रदेश या फिर देश के विभिन्न हिस्सों ने आने वाले पर्यटक इस झील में बोटिग का आन्नद लिया करते थे, लेकिन आज से ये नौकायन को ठेका बंद है। इसके कारण यहां आने वाला पर्यटक निराश होकर लौटता हुआ नजर आ रहा है। ऐसे मे नौकायन बंद होने के कारण जहां पर्यटक निराश होकर लौट रहे हैं, वहीं सरकार को प्रतिदिन 1.20 लाख रुपए के राजस्व की हानि भी हो रही है।


गौरतलब है कि रिद्धी—सिद्धी नौकायन संचालन का ठेका 31 जनवरी 2017 को समाप्त हो चुका है। वहीं इस ठेके को पुन: करने के लिए निविदा आमन्त्रित की गई थी, लेकिन ठेके को सर्विस टैक्स के मसले को लेकर स्थगित करना पड़ा, जिसके बाद बोर्ड की आवश्यक बैठक आयोजित की गई। 


इस बैठक में निर्णय लिया गया कि नियमानुसार ठेके को 50 प्रतिशत की राशि को लेकर एक साल के बढ़ाया जाये, जिसको लेकर सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया, लेकिन उस प्रस्ताव पर न तो अमल हो सका और न ही ठेकेदार को नौकायन संचालन के आदेश जारी हुए। बहरहाल, ऐसे में नौकायन बंद होने के बाद जहां स्थानीय लोगों के रोजगार भी असर पड़ेगा, वहीं यहां आने वाला पर्यटक भी निराश होकर लौटता हुआ नजर आ रहा है।

 

Sirohi Mount Abu Nakki Jheel Nakki Lake Tourism Boating Rajasthan News

Click below to see slide

Recommendation