women did fights at the court campus in tonk

...और कोर्ट के अंदर ही महिलाओं के बीच चल गए लात—घूंसे

Published Date-18-Nov-2016 11:02:07 PM,Updated Date-18-Nov-2016, Written by- Ravish Tailor

टोंक। भीड़भाड़ वाले स्थानों पर आपने पुरूषों को लड़ते झगड़ते और हाथापाई करते तो देखा होगा, लेकिन आज टोंक कोर्ट परिसर जो तस्वीर देखने को मिली वह कम ही देखने को मिलती है और अमूमन हर कोई उसे देखकर हैरत मे पड़ जायेगा। भले ही आपको यकीन न हो, लेकिन अक्सर शांत रहने वाली महिलाओं का गुस्सा आज कोर्ट में इतना बढ़ गया कि वह एक—दूसरे पर जूूते—चप्पलों और लात—घूसों तक से मारपीट पर उतारू हो गईं।


टोंक के जिला सेशन न्यायालय परिसर का उस समय हंगामा मच गया, जब कोर्ट परिसर मे महिलाओं को दो गुट आपस मे भिड़ गए और झगड़ा इस कदर बढ़ गया कि हर कोई देखकर सहम जाये। दरअसल, टोंक जिला न्यायालय मे आज सांसी समाज की महिलाएं विचाराधीन चल रहे एक मामले की सुनवाई को लेकर पहुंची थी।


इसी दौरान महिलाओं में पक्ष और विपक्ष की महिलाओं का जैसे ही एक दूसरे से सामना हुआ, सभी आपस में उलझ पड़ी। पहले महिलाओं में गाली गलौच शुरू हुई और कुछ ही देर में हाथापाई शुरू हो गई। कोर्ट में बैठे सैंकडों वकील और कोर्ट के कर्मचारी कुछ समझ पाते उससे पहले ही महिलाओं ने एक—दूसरे पर लात—घूंसे बरसाने शुरू कर दिए। महिलाओं के बीच मारामारी और लड़ाई इस हद तक बढ़ गई की महिलाओं ने जूते—चप्पलें उतार कर एक—दूसरे पर ताबडतोड वार किए।


मौके पर मौजूद कई वकीलों ने महिलाओं से बीच—बचाव का भी प्रयास किया, लेकिन करीब आधे घंटे तक महिलाओं के बीच मारपीट चलती रही। इसके बाद कोर्ट में मौजूद लोगों ने कोतवाली थाना पुलिस को भी घटना की जानकारी दी। मौके पर भारी भीड़ भी जमा हो गई, लेकिन कोतवाली थाना पुलिस आधे घंटे तक मौके पर नहीं पहुंची। आधे घंटे बाद कोतवाली थाना पुलिस का एक जवान मौके पर पहुंचा, लेकिन वह भी महिला पुलिस के नहीं होने के कारण कुछ नहीं कर सका।


कोर्ट में लड़ रही महिलाओं को मौके पर मौजूद लोगों ने ही बीचबचाव कराते हुए अलग कर दिया। तब जाकर कोतवाली थाना की महिला पुलिस मौके पर पहुंची और सभी महिलाओं को गाड़ी में लेकर कोतवाली थाने ले गई। हालांकि मौके पर मौजूद कई वकीलों का कहना है कि कोर्ट परिसर में आपराधिक प्रवृत्ति के लोग आते हैं, लेकिन उसके बावजूद भी यहां किसी तरह की सुरक्षा के इंतजाम पुलिस और प्रशासन द्वारा नहीं किए गए हैं। ऐसे में आए दिन होने वाले ऐसी घटनाओं से न सिर्फ कोर्ट परिसर को माहौल बिगडता है, बल्कि वकीलों और कोर्ट के कर्मचारियों और अधिकारियों की सुरक्षा का भी खतरा है।

 

Tonk Rajasthan Tonk Court Woman Fights Woman Fighting in Court

Recommendation