A farmer burnt 500 and 1000 note after note ban in kotda

नोट बंद होने की खबर से घबराए किसान ने जला दिए हजार-पांच सौ के नोट

Published Date-07-Dec-2016 04:13:28 PM,Updated Date-07-Dec-2016, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर । नोटबंदी की खबर मिलने साथ ही किसान घबरा गया और हिम्मत करके वो रूपयों को लेकर बैंक पहुंचा गया। बैंकों में लगी लंबी कतार से घबराए किसान के रूपयों का कुछ हल नही निकला। अनपढ़ होने के साथ ही जानकारी के अभाव में उसने परेशान होकर अपने रूपयों को ही आग लगा दी।

 

मामला जोगीवड़ा पंचायत के नेत्रावला गांव का है। यह पैसे किसान लातीया पुत्र धूला डामोर के थे। जिससे वो जलाने के बाद टेंशन फ्री हो गया है। जैसा कि उसने बताया उसके पास लंबे से समय से मेहनत करने के बाद जमा किए गए आठ हजार रूपए थे। जिसमें हजार व पांच सौ के नोट थे। जैसे ही उसे नोट बंद होने का पता चला तो वो उदास हो गया।

 

अब उसे किसी ने बताया कि बैंकों में नोट को बदला या जमा किया जा सकता है तो उसने मुख्यालय पर बैंकों पर पहुंचने के बाद यहां लगी लंबी कतारे देख उसकों कुछ समझ ही नही आया कि वो क्या करें। दो से तीन बार वो बैंकों तक पहुंचा परंतु उसका कुछ नही हो पाया। अब वो घर पर हर रोज यही चिंता में रहा कि अब नोटों का क्या होगा। ऐसे में उसने सभी नोटों का आग के हवाले कर दिया।

 

Udaipur, Note bandi, Kotda, Farmer, Burnt note, Bank line, Illiterate

Click below to see slide

Recommendation