नोटबंदी के विरोध में उदयपुर में कांग्रेस ने साधा सरकार पर निशाना

Published Date 2017/01/25 17:58, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद किए जाने के फैसले के विरोध में कांग्रेस की ओर से आज उदयपुर में प्रदेश स्तरीय जनवेदना सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन को लेकर पीसीसी चीफ सचिन पायलट और गुरूदास कामत सहित प्रदेश स्तर के सभी आला नेता उदयपुर में मौजूद रहे। सम्मेलन के दौरान कांग्रेस ने केन्द्र और राजस्थान की सरकार पर जमकर निशाना साधा।


मेवाड़ को सत्ता का केन्द्र माना जाता है। राजस्थान की सत्ता पर काबिज होने के लिये मेवाड जीतना जरूरी माना जाता है और शायद यही वजह रही कि प्रदेश स्तर के पहले जनवेदना सम्मेलन का आयोजन उदयपुर में किया गया। जनवेदना सम्मेलन में पीसीसी चीफ सचिन पायलट, राजस्थान के प्रभारी गुरूदास कामत, दीपेन्द्र सिंह हुड्डा, मिर्जा इरशाद बेग, रमेश मीणा और पीसीसी के कई पुर्व अध्यक्षों के अलावा प्रदेश कार्य समिति के कई सदस्य मौजूद रहे।


सम्मेलन के दौरान कांग्रेसी नेताओं ने एक के बाद एक बीजेपी की केन्द्र और राज्य सरकार को निशाने पर लिया। सचिन पायलट ने अपने भाषण में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिये बीजेपी को उनके ही गढ़ में मात देने का आव्हान किया। वहीं नोटबंदी और अन्य केन्द्र की नीतियों पर निशाना साधते हुए उन्हें जनविरोधी बताया। पायलट ने कहा कि नोटबंदी से आम आदमी को खासी परेशानी पहुंची है। वहीं गुरूदास कामत ने भी सरकारी योजनाओं पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की।


कांग्रेस के जनवेदना सम्मेलन में पूरे संभाग से हजारों की तादाद में लोग पहुंचे। चित्रकूट नगर स्थित ओपेरा गार्डन में कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ मौजूद रही, वहीं मंच से नेताओं ने भी बीजेपी सरकार में बनी नीतियों की कमियों को गांव—गांव में पहुंचाने की बात कही। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिनेन्द्र सिंह हुड्डा ने मोदी सरकार से पांच सवाल पूछते हुए उनके जवाब मांगे। सम्मलेन में नोटबंदी के अलावा अन्य कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश की, वहीं आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनाने का दावा भी किया गया।

 

Udaipur Rajasthan Demonetisation PM Narendra Modi Protest Janvedna Sammelan Congress Sachin Pilot Gurudas Kamat

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------