Devsthan department employees alleged torture on financial advisor in udaipur

देवस्थान विभाग कर्मचारियों ने वित्तीय सलाहकार पर प्रताड़ना का आरोप

Published Date-03-Mar-2017 08:42:40 PM,Updated Date-03-Mar-2017, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर। उदयपुर के पंचवटी इलाके में स्थित देवस्थान विभाग में शुक्रवार को कर्मचारियों ने वित्तीय सलाहकार पर प्रताड़ना के सनसनीखेज आरोप लागते हुए उसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यही नहीं आक्रोशित कर्मचारियों ने लामबंद हुए वित्तीय सलाहकार भारती राज के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और उन्हें यहां से हटाने की मांग की।


उदयपुर के देवस्थान विभाग में पिछले तीन दशकों से काम करने वाले कर्मचारियों को पहले किसी से कोई परेशानी नहीं हुई, लेकिन पिछले दो सालों से वित्तीय सलाहकार भारती राज की कार्यशैली से विभाग का हर वर्ग का कर्मचारी परेशान है। यह बात पिछले कई समय से एक महिला अधिकारी की प्रताड़ना सहन कर रहे कर्मचारियों की जुबान पर आ गई। देवस्थान विभाग के कार्मिकों की मानें तो वित्तिय सलाहकार अपने उच्च अधिकारियों को नही मानती है और अपने मनचाहे ढंग से कर्मचारियों से काम करवाना चाहती है। 


कार्यालय में हंगामा करने के बाद कर्मचारियों ने भारती राज पर आरोप लगाया कि वह मानसिक दबाव बनाकर कर्मचारियों को प्रताडित करती है। इतना ही नहीं, ड्राइवर से अपनी गाड़ी का गेट खुलवाने के लिए अलग से आदेश भी पारित कर दिया। भारती राज ने शुक्रवार को कर्मचारियों को जानवरों के बराबर का बताकर उन्हें उदाहरण देकर समझाने की कोशिश भी की, जिससे कर्मचारी भड़क गए और उनका गुस्सा फूट पड़ा। कर्मचारियों ने भारती राज के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।


कर्मचारियों के आरोपों के बाद देवस्थान विभाग के वित्तीय सलाहकार भारती राज से जब मीडियाकर्मियों ने बात की तो भारती राज ने कर्मचारियों को आरोपों को सिरे से नकार दिया। बाद में जब जानवरों के उदाहरण को लेकर सवाल किया तो भारती राज ने यह जरूर कहा कि कर्मचारियों को जानवरों का उदाहरण दिया था। इसके बाद भारती राज कहीं पर भी अपनी ओर से की गई प्रताडना को स्वीकार करने को तैयार नहीं थी। 


उनका कहना था कि कर्मचारी काम नहीं करते, इसलिए उनको नोटिस जारी किए हैं। जबकि वित्तीय सलाहकार के पास नोटिस देने का अधिकार नहीं है, केवल वह वसूली के आदेश ही जारी कर सकती है। कर्मचारियों के आरोपों के बाद भी वित्तीय सलाहकार के तेवर में कमी नहीं आना और कर्मचारियों को समझाने के लिए अपने सहयोगी ओटीसी के अतिरिक्त निदेशक आबिद खान को कार्यालय में बुलाना कहीं न कहीं वित्तीय सलाहाकर की कार्यप्रणाली को संदेह खडा होता है।

 

Udaipur, Rajasthan, Financial Advisor, Harassment, Devsthan Department, Rajasthan News

Recommendation