कैशलेस घोषित हुई निम्बाहेड़ा कृषि उपज मंडी

Published Date 2016/12/25 16:46, Written by- FirstIndia Correspondent

उदयपुर। संभाग में कृषि उपज मंडी निम्बाहेड़ा को नोटबंदी के बाद राज्य सरकार द्वारा कैशलेस मंडी घोषित किया गया है। इस मंडी में नियमित रूप से खुली नीलामी पद्धत्ति से कृषि जिन्सों की नीलामी का कार्य सम्पादित होता है। नोटबंदी के बाद कई दिनों तक मंडी बंद रहने के बाद एसडीएम हेमेन्द्र नागर की उपस्थिति में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि व्यापारी किसानों को जिन्स विक्रय का भुगतान चेक द्वारा करेगें। 


इसके बाद 24 नवम्बर से मंडी में कृषकों को जिन्स विक्रय पर नकद के स्थान पर चेक द्वारा भुगतान किया जाना शुरू किया गया। इसके बाद मंडी समिति द्वारा कमिशन एजेन्ट, ट्रांसपोर्टर, हम्मालों, तोलारों की बैंक अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित कर नकद के बजाय चेक द्वारा भुगतान किए जाने के लिए प्रेरित कर 100 खाते खुलवाए गए।


इस संबंध में कृषि विपणन विभाग उदयपुर के क्षेत्र संयुक्त निदेशक को मंडी के केशलेस होने की जानकारी दी जाने के बाद भारत सरकार के कृषि विपणन सलाहकार तरूण शर्मा ने मंडी के केशलेस होने के संबंध में यहां पहुंचकर जानकारियां जुटाई व रिपोर्ट राज्य सरकार को प्रेषित करने के बाद उदयपुर संभाग की 14 मंडियों में से निम्बाहेड़ा मंडी को कैशलेस घोषित किया गया।

 

Udaipur Nimbahera Cashless Demonetisation Agricultural Produce Market Krishi Upaj Mandi

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------