महज पाखंड साबित हुई कथित 'बाबा' की जीवित समाधि लेने की घोषणा

Published Date 2017/10/23 06:01,Updated 2017/10/23 06:23, Written by- FirstIndia Correspondent
+2
+2

हनुमानगढ़| हनुमानगढ़ में नोहर के राजपुरियां गांव में बाबा रामदेव के एक भगत ने जीवित समाधि लेने की अजीबों गरीब घोषणा कर रखी थी जो अपने ही द्वारा फैलाई गई मात्र अफवाह व पाखंड साबित हुई। आपको बता दें कि बाबा ने अपनी घोषणा आज से 57 दिन पहले की थी जिसमें उसने 23 अक्टूबर को 2 से 5 बजे के बीच जीवित समाधि लेने की बात कही। बाबा के अजीब फरमान के चलते ग्रामीणों ने बाबा की समाधि के लिए मंदिर के पास ही 15 फीट गहरे गड्ढे का निर्माण करवा रखा था, जिसे सोमवार को पुलिस प्रशासन ने तहस नहस करवा दिया। 

सोमवार को सुबह से ही लोगों में बाबा रामदेव मंदिर पर उत्सुकता का माहौल था तथा आसपास के गांवों के लोगों की हजारों की सख्या में भीड़ मौजूद थी। दो दिनों से लोग बाबा के अंतिम दर्शन करने के लिए जनसैलाब के रूप में उमड़ रहे थे। बाबा प्यारेलाल अपने आने वाले हर भगत को 23 अक्टूबर के दिन सवा दो बजे से पांच बजे के बीच जीवित समाधि लेने की बात कह रहा था तथा बाबा के भक्त गांव के महिला व पुरूष दो दिनों से दिन रात मंदिर में भजन कीर्तन कर रहे थे। भगत के अजीब फरमान के चलते पुलिस व प्रशासन भी सतर्क था। किसी अनहोनी घटना से बचने के लिए पुलिस ने सोमवार दोपहर को भगत बाबा प्यारेलाल को पास ही के गांव जमाल भेज दिया तथा दो तीन दिनों तक वहीं रूकने के निर्देश दिये। 

गांव के रामदेव मंदिर पर जहां समाधी ली जानी थी वहां दूरदराज के अनेको गांवो से बाबा द्वारा जीवित समाधी लेने की चर्चा से देखने वाले लोगों का हुजुम उमड़ पड़ा। लोग शाम तक बाबा के वापस लौटने का इंतजार कर रहे थे। गोगामेड़ी थानाधिकारी भूपसिंह सहारण ने बताया कि प्रशासन के निर्देश पर बाबा को दूसरी जगह पर भेजा गया हैं। बाबा द्वारा जीवित समाधी लेने की मात्र कोरी अफवाहे 57 दिनों से फैलाई जा रही थी। भगत प्यारे लाल ने पोस्टर पर भी छपवा रखा था कि 23 तारीख का इंतजार कर रहा हूं, 57 दिन पहले ही गांव राजपुरियां में प्यारेलाल भगत ने अपनी मौत का एलान कर दिया था तथा आज ही के दिन 23 अक्टूबर को दोपहर 2.15 से 5 बजे के बीच में भगत प्यारेलाल अपने शरीर से प्राण त्याग देंगे और स्वर्ग लोक सिधार जाएंगे। बाबा द्वारा फैलाया गया फरमान मात्र कौरी अफवाह व पाखण्ड़ निकला।

 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------