भूकंप की स्थिति को संभालने के लिए स्थापित ईरानी सरकार की आपदा इकाई के उपप्रमुख बेहनम सैदी ने सरकारी टेलीविजन को पहले बताया था कि 164 से अधिक लोग मारे गए हैं और 1,686 से अधिक लोग घायल हैं। वहीं ईरान के करमानशाह प्रांत के डिप्टी गवर्नर मोजतबा निक्केरदर ने कहा कि हम तीन आपात राहत शिविर स्थापित करने की तैयारी कर रहे हैं। इराक की सीमा में छह अन्य लोगों के मारे जाने की भी खबर है। इराक में भूकंप के झटके बगदाद तक महसूस किए गए।

यूएसजीएस ने बताया कि भूकंप हलबजा से 30 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में कल रात करीब नौ बजकर 20 मिनट पर आया। जिस इलाके में भूकंप आया है, वह अरब और यूरेशियाई टेक्‍टोनिक प्‍लेट की 1500 किमी फाल्‍ट लाइन के ही दायरे में आता है। यह बेल्‍ट पश्चिमी ईरान से लेकर उत्‍तर-पूर्वी इराक तक फैली है। इस कारण से यह क्षेत्र भूकंप के लिहाज से संवेदनशील है।

भूकम्प को लेकर माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर भी कई लोगों ने भूकंप से जुड़े वीडियो डाले हैं। एक फुटेज में घबराए लोग उत्तरी इराक के सुलेमानिया में इमारतों से बाहर निकलते नजर आ रहे हैं। अन्य फुटेज में हिलती इमारतों से भागते लोग और कई मलबे में तब्दील हो चुकी इमारतें दिख रही हैं।

गौरतलब है कि इससे पूर्व साल 2003 में ईरान के बाम में भयावह भूकंप के चलते यह शहर तबाह हो गया था और तकरीबन 31 हजार लोगों की मौतें हुई थीं। इसी तरह ईरान में दो बड़े भूकंप 2005 और 2012 में आए, जिनमें क्रमश: 600 और 300 लोगों की मौत हो गई। वहीं इसी साल मई के महीने में ईरान की तुर्केमेनिस्‍तान से लगती सीमा के निकट 5.7 तीव्रता के भूकंप के चलते 2 लोगों की मौत हुई और सैकड़ों घायल हो गए थे।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/7.3-magnitude-earthquake-at-Iraq-Iran-border-1702485361", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "ईरान-इराक बॉर्डर पर 7.3 तीव्रता का जबरदस्त भूकंप, अब 328 की मौत ढाई हजार से ज्यादा घायल", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

ईरान-इराक बॉर्डर पर 7.3 तीव्रता का जबरदस्त भूकंप, अब 328 की मौत ढाई हजार से ज्यादा घायल

Published Date 2017/11/13 11:07,Updated 2017/11/13 04:44, Written by- FirstIndia Correspondent

तेहरान। ईरान-इराक की पहाड़ी सीमा पर बीती रात आए 7.3 की तीव्रता वाले जबरदस्त भीषण भूकंप में मरने वालों की तादाद 328 तक पहुंच गई है। वहीं भूकम्प के कारण करीब ढाई हजार से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबरें हैं। सरकारी मीडिया ने कोरोनर कार्यालय के हवाले से बताया कि 7.3 की तीव्रता वाले भूकंप में कम से कम 2,530 लोग घायल हुए हैं। पिछले आंकड़े में 207 लोगों के मारे जाने और 1,700 लोगों के घायल होने की जानकारी दी गई थी।

7.3 तीव्रता वाले इस भूकंप का केंद्र ईराकी शहर हलबजा से 31 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में था। स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय समयानुसार रात 9.20 बजे आए इस भूकंप की गहराई 15 मील थी। भूकंप के झटके ईरान के कई शहरों में महसूस किए गए। भूकंप से कई शहर मलबे में तब्दील हो गए हैं। वहीं भूकंप के कारण हुए भूस्खलन की वजह से बचाव कार्यों में बाधा उत्पन्न हो रही है।

भूकंप की स्थिति को संभालने के लिए स्थापित ईरानी सरकार की आपदा इकाई के उपप्रमुख बेहनम सैदी ने सरकारी टेलीविजन को पहले बताया था कि 164 से अधिक लोग मारे गए हैं और 1,686 से अधिक लोग घायल हैं। वहीं ईरान के करमानशाह प्रांत के डिप्टी गवर्नर मोजतबा निक्केरदर ने कहा कि हम तीन आपात राहत शिविर स्थापित करने की तैयारी कर रहे हैं। इराक की सीमा में छह अन्य लोगों के मारे जाने की भी खबर है। इराक में भूकंप के झटके बगदाद तक महसूस किए गए।

यूएसजीएस ने बताया कि भूकंप हलबजा से 30 किलोमीटर दूर दक्षिण-पश्चिम में कल रात करीब नौ बजकर 20 मिनट पर आया। जिस इलाके में भूकंप आया है, वह अरब और यूरेशियाई टेक्‍टोनिक प्‍लेट की 1500 किमी फाल्‍ट लाइन के ही दायरे में आता है। यह बेल्‍ट पश्चिमी ईरान से लेकर उत्‍तर-पूर्वी इराक तक फैली है। इस कारण से यह क्षेत्र भूकंप के लिहाज से संवेदनशील है।

भूकम्प को लेकर माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर भी कई लोगों ने भूकंप से जुड़े वीडियो डाले हैं। एक फुटेज में घबराए लोग उत्तरी इराक के सुलेमानिया में इमारतों से बाहर निकलते नजर आ रहे हैं। अन्य फुटेज में हिलती इमारतों से भागते लोग और कई मलबे में तब्दील हो चुकी इमारतें दिख रही हैं।

गौरतलब है कि इससे पूर्व साल 2003 में ईरान के बाम में भयावह भूकंप के चलते यह शहर तबाह हो गया था और तकरीबन 31 हजार लोगों की मौतें हुई थीं। इसी तरह ईरान में दो बड़े भूकंप 2005 और 2012 में आए, जिनमें क्रमश: 600 और 300 लोगों की मौत हो गई। वहीं इसी साल मई के महीने में ईरान की तुर्केमेनिस्‍तान से लगती सीमा के निकट 5.7 तीव्रता के भूकंप के चलते 2 लोगों की मौत हुई और सैकड़ों घायल हो गए थे।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------