बीजेपी में शीतयुद्ध खात्मे के बढ़े आसार, प्रदेशाध्यक्ष प्रकरण को लेकर अमित शाह ने बुलाई बैठक 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/06/12 09:44

जयपुर (योगेश शर्मा/ऐश्वर्य प्रधान)। तकरीबन दो महिने बीतने के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मसले पर हल निकलता जा रहा है। कल दिल्ली में बीजेपी आलाकमान ने राजस्थान के नेताओं की बैठक बुलाई है। सर्वसम्मति बन गई तो कल के बाद कभी भी प्रदेशाध्यक्ष के नाम का ऐलान हो जायेगा। अमित शाह पार्टी के राजस्थान के नेताओं से वन टू वन चर्चा चर्चा करेंगे। सीएम राजे, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर समेत मंत्रीपरिषद के प्रमुख सदस्यों, कोर ग्रुप के सदस्यों, प्रमु़ख सांसदो और प्रमुख विधायकों से मिलेंगे। अभी अध्यक्ष पद की दौड़ में गजेन्द्र सिंह शेखावत का नाम शीर्ष पर है। 

साल 1980 में बीजेपी की स्थापना के बाद राजस्थान की बीजेपी में शायद यह पहली बार हो रहा है जब पार्टी को अपना प्रदेशाध्यक्ष घोषित करने में दो महिने लग गये। आखिरकार बीजेपी राष्ट्रीय आलाकमान को राजस्थान के नेताओं की बैठक दिल्ली बुलानी पड़ रही है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर,अशोक परनामी, ओम प्रकाश माथुर, भूपेन्द्र यादव, गुलाब चंद कटारिया,अर्जुन राम मेघवाल,सी आर चौधरी, अरुण चतुर्वेदी, राजेन्द्र  राठौड़, राजपाल सिंह शेखावत, श्रीचंद कृपलानी, डॉ किरोड़ी लाल मीणा समेत प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पद पर पेंच फंसे हुये करीब 2माह बीत चुके है, अशोक परनामी को इसी साल 16अप्रेल को विदा कर दिया था। और आलाकमान ने नाम सुझा दिया था गजेन्द्र सिंह शेखावत का। बस यहीं से विवाद की शुरुआत हो गई थी। क्यों रहे विवाद के कारण ग्राफिक्स के जरिये बताते हैं।

बीजेपी में क्यों फंसा अध्यक्ष पद पेंच :

- अशोक परनामी को अचानक हटा दिया गया
- आलाकमान ने हटाने का फैसला सुना दिया
- बीजेपी प्रदेश नेतृत्व से पूछा तक नहीं
- आलाकमान ने गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम आगे कर दिया
- यहीं से विवाद की शुरुआत हो गई
- राजस्थान बीजेपी नेतृत्व ने हामी नहीं भरी
- शेखावत के नाम पर जता दिया विरोध
- बीजेपी प्रदेश नेतृत्व ने आलाकमान तक संदेश भिजवाया
- शेखावत को बनाने से जाट वोट विरोध में लामबंद हो जायेेंगे
- जातीय-क्षेत्रीय समन्वय साधना मुश्किल हो जायेगा, लेकिन आलाकमान ने पलट संदेश भिजवाया
- भैरोंसिंह शेखावत ने लंबे समय तक राजस्थान की बीजेपी की कमान संभाली है
- भैरों सिंह शेखावत राजपूत क्षत्रप ही थे
- अभी तक आलाकमान की ओर से गजेन्द्र सिंह शेखावत का नाम आगे है
- विवाद है जो थमने का नाम नहीं ले रहा
- इस कारण बीजेपी राजस्थान में शीत युद्ध के हालात पनप गये
- शीर्ष नेताओं के बीच पैदा हो गया 'कम्युनिकेशन गेप'

भले ही दिल्ली और जयपुर के बीच प्रदेशाध्यक्ष मुद्दें पर कम्युनिकेशन गेप के हालात पनप गये। लेकिन दिल्ली और जयपुर में समन्वय के रास्ते निकालने की बहुत कोशिश हुई। 

कलह थामने की हुई कोशिशें :

- अविनाश राय खन्ना का - वी सतीश के जयपुर दौरे--
- खन्ना और सतीश ने बीच का रास्ता निकालने का प्रयास किया 
- गजेन्द्र सिंह शेखावत के नाम पर हो रहे विरोध की हकीकत जांची
- जयपुर में बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक ली
- सीएम राजे समेत स्टेट लीडर्स से एक एक करके राय. जानी
- कोर ग्रुप बैठक में इस मुद्दे पर आपसी बहस भी देखने को मिली. 
- दोनों ने स्थानीय दिग्गजों से वन टू वन टॉक भी किया, लेकिन खन्ना और वी सतीश के प्रयासों के नतीजे नहीं निकले
- दोनों ने अपनी रिपोर्ट संगठन महामंत्री रामलाल को दे दी

ओम माथुर के प्रयास :

- दिल्ली में ओम माथुर ने अपनी ओर से विवाद पटाक्षेप में पहल की 
- अर्जुन राम मेघवाल, गजेन्द्र सिंह शेखावत, मदन लाल सैनी समेत कई नेताओं से मिले
- राष्ट्रीय नेतृत्व से बातचीत भी अपने स्तर पर की
- हालांकि तब पूर्ण रुपेण विवाद नहीं सुलझा

संघ की कोशिशें :

- पहले तो संघ विवाद में नहीं पड़ना चाहता था, लेकिन दिल्ली के कहने बाद राजस्थान संघ सक्रिय हुआ
- संघ ने अपनी राय संबधित लोगों को बता दी
- संगठन महामंत्री चंद्रशेखर ने सेतु का काम किया
- हालांकि संघ ने किसी नाम पर ना तो वीटो किया और ना ही किसी नाम पर पुरजोर विरोध 

दिल्ली से बैठक की जानकारी आने के बाद राज्य बीजेपी अध्यक्ष का संकट सुलझने के आसार बढ़ गये हैं। 13,14 और 15जून कभी भी नये अध्यक्ष के नाम का ऐलान हो सकता है। बीजेपी अध्यक्ष पद पर कांग्रेस को बोलने का काफी मौका मिल गया अब सत्ता पक्ष मौका नहीं देना चाह रहा। वहीं जुलाई में अमित शाह राजस्थान आ सकते है। उससे पहले केन्द्रीय नेतृत्व चाहता है अध्यक्ष पद का विवाद सुलझे। गजेन्द्र सिंह शेखावत दौड़ में आगे है उनके लिये चुनौती दो ही नाम है अरुण चतुर्वेदी और अर्जुन राम मेघवाल।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

अष्टमी और नवमी के दिन किया जाने वाला कन्या पूजन किस विधि के द्वारा किया जाये ?

Big Fight Live | शर्तों के मेह\'मान\' ! | 16 OCT, 2018
रामपाल की सजा का ऐलान, मरते दम तक रहना होगा जेल में
रामपाल को हत्या और बंधक बनाने के मामले में आजीवन कारावास की सजा
अब इस नाम से जाना जायेगा इलाहाबाद, कैबिनेट में मिली मंजूरी
जानिए कैसे माँ की कृपा से रखे अपने आप को रोग मुक्त | Good Luck Tips
कोटा की रहने वाली मॉडल मानसी दिक्षित की मुंबई में हत्या
पूर्व राष्ट्रपति मिसाइल मैन एपीजे अब्दुल कलाम का आज ही के दिन हुआ था जन्म