मौत से पहले ट्वीट कर दी थी भय्यूजी ने शिवरात्रि की शुभकामनाएं 

Published Date 2018/06/12 08:03,Updated 2018/06/12 08:17, Written by- FirstIndia Correspondent

इंदौर। संत भय्यूजी महाराज (यशवंत राव देशमुख) ने आज अपने खंडवा रोड स्थित आवास पर खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। गोली मारने की खबर मिलते ही उन्हें गंभीर हालत में बाम्बे अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने भय्यूजी महाराज की मौत की पुष्टि कर दी। 

बताया जा रहा है कि खुदकुशी से पहले भय्यूजी ने एक सुसाइड नोट भी लिखा था। इस सुसाइड नोट में उन्होंने अपनी मौत का जिम्मेदार किसी को नहीं बताया था। हालांकि, उन्होंने इतना जरूर लिखा कि वो जिंदगी के तनाव से काफी परेशान थे। 

संत भय्यूजी महाराज सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर काफी एक्टिव रहते थे। हैरानी वाली बात है कि भय्यूजी महाराज ने मौत से महज 20 मिनट पहले लगातार तीन ट्वीट किये थे। समझना मुश्किल है कि ट्वीट और उनकी मौत के बीच के समय के दौरान किस तरह के हालात बने होंगे, जिस कारण उन्होंने खुदकुशी कर ली। इन ट्वीट से बिलकुल नहीं लग रहा है कि भय्यूजी परेशान थे। 

क्या थे आखिरी 3 ट्वीट 

भय्यू रोजाना आध्यात्म से जुड़ी जानकारी को लेकर ट्वीट करते थे। उन्होंने 1 बजकर 24 मिनट पर पहला ट्वीट किया जिसमें उन्होंने बताया था कि 'आज मासिक शिवरात्रि है। यह प्रत्येक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है। हिन्दू धर्म में इस शिवरात्रि का भी बहुत महत्त्व है। 'शिवरात्रि' भगवान शिव और शक्ति के अभिसरण का विशेष पर्व है।' अपने दूसरे ट्वीट में भी उन्होंने मासिक शिवरात्रि के बारे में जानकारी दी थी। और आखिरी ट्वीट में लिखा कि 'मासिक शिवरात्रि' को 'महाशिवरात्रि' कहते हैं। दोनों पंचांगों में यह चन्द्र मास की नामाकरण प्रथा है, जो इसे अलग-अलग करती है। मै सभी भक्तगणों को इस पवन दिवस की बधाई एवं शुभकामनाये देता हूं।'

भय्यूजी महाराज का सभी राजनीतिक दलों में दखल रहा है। कांग्रेस और संघ के लोगों से उनके करीबी रिश्ते रहे हैं। वे लगातार समाज के लिए कई प्रकल्प चला रहे हैं। नरेंद्र मोदी ने जब 26 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे थे तो उनके 4,000 वीआइपी मेहमानों में भय्यूजी महाराज भी तशरीफ लाए थे।

 

 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------

23570