राजनीति के रंग में रंगने को तैयार रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, दर्जनभर अफसर दौड़ में

Dinesh Kumar Dangi Published Date 2018/05/26 07:40

जयपुर (दिनेश डांगी)। विधानसभा चुनाव के रण में नेताओं के साथ ब्यूरोक्रेट्स भी कूदने की तैयारी में हैं और करीब एक दर्जन आईएएस औऱ आईपीएस रहे जैसे अफसर टिकट की दौड़ में है। खास बात है कि अधिकतर अफसर कांग्रेस से टिकट चाह रहे हैं। एक कॉमन बात यह भी है कि दो—तीन को छोड़कर किसी ने भी किसी सियासी दल का दामन अभी नहीं थामा है। लिहाजा, फिलहाल ये भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के नेताओं के यहां टिकट के लिए धोक लगा रहे हैं। ऐसे रिटायर्ड अफसरों की इंटेलीजेंसी रिपोर्ट तैयार करने में जुटा हुआ है।

इस बार भी राजस्थान विधानसभा में पहुंचने के लिए कईं ब्यूरोक्रेटस टिकट की दौड़ में शुमार हो गए हैं। ये अफसर फिलहाल टिकट के लिए जयपुर से लेकर दिल्ली तक भागदौड़ कर रहे हैं। करीब एक दर्जन पूर्व आईएएस औऱ आईपीएस अफसर विधायक की टिकट की चाहत पाले हुए बैठे हैं। अपने सम्पर्कों के आधार पर ये टिकट पाने के लिए दिन-रात एक किए हुए बैठे हैं।

कौन-कौनसे रिटायर्ड अफसर की कहां से है टिकट की चाह :

अफसर

पोस्ट

विधानसभा क्षेत्र

विजेन्द्र झाला

पूर्व आईपीएस 

सोजत

लालचंद असवाल

पूर्व आईएएस

बगरु, निवाई और सिकराय

टीआर मीणा

पूर्व आईपीएस

लालसोट

बृजमोहन मीणा

पूर्व आईपीएस

लालसोट

सवाईसिंह चौधरी

पूर्व आईपीएस

नागौर

के राम बगड़िया

पूर्व आईपीएस

लाडनू और नागौर

जेपी चंदेलिया

पूर्व आईएएस

पिलानी

ओपी यादव

पूर्व आईएएस

कोटपूतली और बहरोड़

अजय सिंह चित्तोड़ा

पूर्व आईएएस

झोटवाड़ा

ललित मेहरा

पूर्व आईएएस

पीलीबंगा

टीसी डामोर

पूर्व आईपीएस

डूंगरपुर

सियाराम मीणा

पूर्व आईएएस

राजगढ़ और थानागाजी

तो ये रिटार्यड अफसर राजनीति के रंग में रंगने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इनमें विजेन्द्र झाला, के राम बगड़िया, जेपी चंदेलिया तो कांग्रेस की सदस्यता भी ज्वॉइन कर चुके हैं। बाकी नेता अभी टिकट मिलने की गारंटी के मद्देनजर बंद कमरे में नेताओं के धोक लगा रहे हैं। इनमें से अधिकतर अफसर पिछले दिनों अशोक गहलोत को जन्मदिन पर बधाई देते हुए भी देखे। वहीं कुछ आए दिन दिल्ली में पीसीसी चीफ सचिन पायलट से भी बंद कमरे में मिल चुके हैं।

हालांकि बाकी नेता अभी खुद को ओपन नहीं करना चाहते, इसलिए बिना टिकट मिलने की गारंटी के चलते विधिवत पार्टियां ज्वॉइन करने से कतरा रहे हैं। यह सोचकर कि क्या पता कांग्रेस और भाजपा में से एक की टिकट मिल जाए। इनके अलावा डीएल नवल, रामलुभाया और गिरिराज मीणा भी सियासी पारी खेलने की तैयारी कर रहे हैं। 

गौरतलब है कि कईं ब्यूरोक्रेट्स नौकरी करने के बाद सियासत में अच्छी पारी खेल चुके हैं। अर्जुनराम मेघवाल, सीआर चौधरी, हरिश्चंद्र मीणा और नमोनारायण मीणा जैसे नेताओं ने पहले नौकरी की औऱ फिर सियासत में चले गए। लिहाजा, उनकी देखादेखी अन्य रिटायर्ड अफसर भी उनकी राह पर है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

Big Fight Live | राजपूत VS राजपूत ! | 16 OCT, 2018

\'बंदूकबाज\' आशीष पांडे के खिलाफ कसने लगा कानूनी शिकंजा, गैर-जमानती वारंट जारी
मेरठ: आर्मी का जवान निकला PAK का जासूस, ISI को भेजी जानकारी
J&K: श्रीनगर में एनकाउंटर में लश्कर कमांडर सहित 3 आतंकी ढ़ेर, एक जवान भी शहीद
Kerala Sabarimala temple: हालात हुए बेकाबू, मीडिया को बनाया गया निशाना
पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी
अष्टमी और नवमी के दिन किया जाने वाला कन्या पूजन किस विधि के द्वारा किया जाये ?
Big Fight Live | शर्तों के मेह\'मान\' ! | 16 OCT, 2018