इस मामले में जहां केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने अपने ट्विटर और फेसबुक अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें रामायण सीरियल का कुछ हिस्सा दिखाया गया। इसमें शूर्पनखा जोर-जोर से हंस रही है, जिसके बाद लक्ष्मण उसकी नाक काट देते हैं। इस वीडियो के कैप्शन में लिखा है कि पीएम मोदी ने आज रामायण सीरियल के दिनों की याद दिला दी।

रिजिजू द्वारा ऐसा वीडियो शेयर करने पर रेणुका चौधरी ने आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि वह इस मुद्दे पर विशेषाधिकार हनन का नोटिस देंगी। मामले के तूल पकड़ने के बाद किरन रिजिजू ने अपनी सफाई में कहा कि मैंने वो वीडियो फ़ेसबुक पर पोस्ट किया है, जो सारा देश देख रहा है। मैंने किसी का नाम नहीं लिखा है, ना ही किसी की तुलना की है। उन्होंने कहा कि मैंने सिर्फ ये लिखा है कि पीएम ने इस दौरान संयम से काम लिया है।

Despite such vexatious laugh by Renuka Chaudhary ji PM Narendra Modi ji didn't get irritated. pic.twitter.com/pc5TGOYhZV

— Kiren Rijiju (@KirenRijiju) February 8, 2018

वहीं दूसरी ओर, रेणुका चौधरी ने इम मामले में पीएम की निजी जिंदगी पर निशाना साधते हुए हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पीएम न अपने घर की मर्यादा रख सके, न ही इस घर की। इस घर से उनका इशारा संसद की तरफ था। रेणुका ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री ने मुझ पर व्यक्तिगत टिप्पणी की है, आप उनसे और क्या अपेक्षा कर सकते हैं? मैं उन्हें जवाब देकर अपना स्तर नहीं गिराना चाहती। उन्होंने कहा कि यह वास्तव में किसी महिला के अपमान वाली स्थिति है।

रेणुका चौधरी के बयान के बाद रिजिजू ने उस वीडियो को वापस लेते हुए ट्वीट किया कि कांग्रेस का कहना है कि यह ब्रीच ऑफ प्रिविलेज है, राज्यसभा के सभापति के बयान के बाद इस तरह का व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए था, मैं सिर्फ इस बात का जिक्र कर रहा था कि किस बात पर प्रधानमंत्री मोदी नाराज थे। रिजिजू ने ट्वीट करते हुए पहले लिखा था कि रेणुका चौधरी की इस तरह की हंसी के बाद भी प्रधानमंत्री झुंझलाए नहीं थे।

", "sameAs": "http://www.firstindianews.com/news/Congress-demands-apology-from-PM-over-Ramayana-ki-hansi-in-Parliament-812956075", "about": [ "Works", "Catalog" ], "pageEnd": "368", "pageStart": "360", "name": "संसद में 'रामायण की हंसी' को लेकर बरपा हंगामा, कांग्रेस ने की पीएम से माफी की मांग", "author": "FirstIndia Correspondent" } ] }

संसद में 'रामायण की हंसी' को लेकर बरपा हंगामा, कांग्रेस ने की पीएम से माफी की मांग

Published Date 2018/02/08 02:47, Written by- FirstIndia Correspondent

नई दिल्ली (FIN डिजिटल)। संसद के बजट सत्र में राष्ट्रपति अभिभाषण पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान रेणुका चौधरी द्वारा लगाए गए ठहाकों की गूंज जोरदार असर कर रही है। राज्यसभा में बुधवार को कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी की हंसी पर पीएम मोदी के दिए गए रामायण की हंसी वाले बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है। पीएम मोदी के बयान को लेकर आज राज्यसभा में कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया और पीएम से माफी की मांग की। राज्यसभा में हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित भी करना पड़ा।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। पीएम के भाषण के वक्त संसद के दोनों ही सदनों में कांग्रेस के सांसदों ने जमकर नारेबाजी की। इस दरमियान जब पीएम मोदी राज्यसभा में अपनी बात रख रहे थे, तभी कांग्रेस की वरिष्ठ नेता रेणुका चौधरी जोर-जोर से ठहाके मार कर हंस पड़ी थीं।

रेणुका चौधरी की इस हंसी से पीएम के भाषण में रुकावट आ रही थी, जिस पर सभापति वेंकैया नायडू ने उन्हें टोका भी था। इस दौरान पीएम मोदी ने सभापति वेंकैया नायडू से ये कहा कि सभापति जी, मेरी आपको प्रार्थना है कि रेणुका जी को कुछ मत कीजिए। रामायण सीरियल के बाद ऐसी हंसी सुनने का आज सौभाग्य मिला है। इसको लेकर इशारों-इशारों में सूर्पनखा कहने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। 

इस मामले में जहां केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने अपने ट्विटर और फेसबुक अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें रामायण सीरियल का कुछ हिस्सा दिखाया गया। इसमें शूर्पनखा जोर-जोर से हंस रही है, जिसके बाद लक्ष्मण उसकी नाक काट देते हैं। इस वीडियो के कैप्शन में लिखा है कि पीएम मोदी ने आज रामायण सीरियल के दिनों की याद दिला दी।

रिजिजू द्वारा ऐसा वीडियो शेयर करने पर रेणुका चौधरी ने आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि वह इस मुद्दे पर विशेषाधिकार हनन का नोटिस देंगी। मामले के तूल पकड़ने के बाद किरन रिजिजू ने अपनी सफाई में कहा कि मैंने वो वीडियो फ़ेसबुक पर पोस्ट किया है, जो सारा देश देख रहा है। मैंने किसी का नाम नहीं लिखा है, ना ही किसी की तुलना की है। उन्होंने कहा कि मैंने सिर्फ ये लिखा है कि पीएम ने इस दौरान संयम से काम लिया है।

वहीं दूसरी ओर, रेणुका चौधरी ने इम मामले में पीएम की निजी जिंदगी पर निशाना साधते हुए हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पीएम न अपने घर की मर्यादा रख सके, न ही इस घर की। इस घर से उनका इशारा संसद की तरफ था। रेणुका ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री ने मुझ पर व्यक्तिगत टिप्पणी की है, आप उनसे और क्या अपेक्षा कर सकते हैं? मैं उन्हें जवाब देकर अपना स्तर नहीं गिराना चाहती। उन्होंने कहा कि यह वास्तव में किसी महिला के अपमान वाली स्थिति है।

रेणुका चौधरी के बयान के बाद रिजिजू ने उस वीडियो को वापस लेते हुए ट्वीट किया कि कांग्रेस का कहना है कि यह ब्रीच ऑफ प्रिविलेज है, राज्यसभा के सभापति के बयान के बाद इस तरह का व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए था, मैं सिर्फ इस बात का जिक्र कर रहा था कि किस बात पर प्रधानमंत्री मोदी नाराज थे। रिजिजू ने ट्वीट करते हुए पहले लिखा था कि रेणुका चौधरी की इस तरह की हंसी के बाद भी प्रधानमंत्री झुंझलाए नहीं थे।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

Stories You May be Interested in


loading...

Most Related Stories


-------Advertisement--------



-------Advertisement--------