राज्यसभा में कांग्रेस का पहली बार नहीं होगा प्रतिनिधित्व! कांग्रेस प्रत्याशी के नहीं दिख रहे आसार

Published Date 2018/03/03 06:51, Written by- Dinesh Kumar Dangi

जयपुर। राजस्थान में 23 मार्च को तीन सीटों पर राज्यसभा चुनाव होने वाले हैं। भाजपा विधायकों की संख्या के हिसाब से तीनों सीटें भाजपा के खाता में जाना तय माना जा रहा है। ऐसे में यह पहली मर्तबा होगा कि राजस्थान से कांग्रेस का कोई राज्यसभा में प्रतिनिधित्व नहीं होगा और तमाम 10 सीटों पर भाजपा का कब्जा होगा।

200 सदस्यीय राज्य विधानसभा में भाजपा विधायक कल्याण सिंह चौहान का हाल ही में निधन हुआ है। ऐसे में वर्तमान में 199 विधायक राज्यसभा चुनाव में मतदान करेंगे। इनमें से भाजपा विधायकों की संख्या 159 और कांग्रेस के 25 विधायक मतदान करेंगे। इसी तरह बसपा के 2, राजपा के 4 और शेष 9 निर्दलीय विधायक हैं। इस लिहाज से राज्यसभा की तीनों सीटों पर भाजपा का जीतना तय माना जा रहा है।

वर्तमान हालात में लगता नहीं है कि कांग्रेस राज्यसभा चुनाव में कोई प्रत्याशी मैदान में उतारेगी। कांग्रेस के जो दो राज्यसभा सदस्य रिटायर हो रहे हैं, उनमें पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी और नरेन्द्र बुडानिया शामिल है। अगर कांग्रेस मान ले कि प्रत्याशी उतारती है तो बसपा और दो निर्दलीय विधायक भी वोट दे तो आंकड़ा 30 विधायकों से ऊपर नहीं पहुचेंगा।

वहीं राजपा राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा को वोट दे चुकी है। वो भी कांग्रेस को सपोर्ट नहीं करेगी। राज्यसभा चुनाव प्रक्रिया अनुसार एक सीट पर 50 से अधिक मत चाहिए। दरअसल, जीत के लिए मतों का निर्णय कुल विधायकों की संख्या में कुल राज्य सभा सीटों में 1 जोड़कर विभाजित करने पर होता है। इस तरह विधानसभा सीट यहां 199 है और राज्य सभा सीट तीन हैं। इनमें एक जोड़ कर विभाजित करते हैं तो 50.75 मत की जरूरत होती है, जिसे 51 वोट माना जाएगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in


loading...

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------